Sunday, March 07, 2021
Follow us on
 
BREAKING NEWS
गन प्वांइट पर फॉर्च्यूनर कार लूटने वालें आरोपियो को भेजा जेल क्राईंम ब्राचं पचंकूला ने भैसं चोर को लिया पुलिस रिमाण्ड पर संगरूर सांसद भगवंत मान ने किसान आंदोलन को लेकर पंजाब की कांग्रेस पार्टी और शिरोमणि अकाली दल नेताओं पर तीखी टिप्पणी कीकांग्रेस सदन में किसानों के मुद्दे पर सरकार के ख़िलाफ़ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी - भूपेंद्र सिंह हुड्डाजजपा ने पंचकूला नगर निगम मेयर व वार्ड मेंबर्स के चुनाव के लिए कमर कसी उपायुक्त जयबीर सिंह आर्य ने लघु सचिवालय परिसर, चिडिय़ाघर रोड़, बीपीएस रोड़ और हुडा पार्क के आसपास किया निरीक्षण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसानों को वो कानूनी अधिकार दे रहे हैं-- रत्नलाल कटारिया कोविड-19 टीकाकरण के लिए गठित जिला स्तरीय टास्क फोर्स कमेटी की पहली बैठक में हुई तैयारियों की समीक्षा
 
 
 
Chandigarh

चंडीगढ़ शहर में बिकने वाली सब्जियों और फल के दाम अब हर दिन प्रशासन ही तय करेगा।

December 20, 2020 08:25 PM
चंडीगढ़ -  अग्रजन पत्रिका ब्यूरो-चंडीगढ़ शहर में बिकने वाली सब्जियों और फल के दाम अब हर दिन प्रशासन ही तय करेगा। ऐसे में वेंडर्स अब मनमर्जी से रेट वसूल नहीं कर पाएंगे। मार्केट कमेटी ने अपनी मनमर्जी से हर दिन रेट तय करने के सिस्टम पर दिसंबर के पहले सप्ताह में रोक लगा दी थी लेकिन रेजिडेंट्स के दबाव के कारण प्रशासन ने फिर से रेट तय करने का सिस्टम शुरू कर दिया है। सरकारी स्तर पर रेट तय होने से शहरवासियों को राहत मिलती है। लाकडाउन के दौरान शहरवासियों की सुविधा के लिए कमिश्नर केके यादव के आदेश पर मार्केट कमेटी ने सब्जियों और फल के दाम तय करके वेंडर्स को बेचने के लिए कहा था। प्रतिदिन होलसेल के रेट को देखते हुए उससे ऊपर 20 से 30 फीसद का मार्जन रखकर रिटेल के दाम तय करने की जिम्मेवारी मार्केट कमेटी के सचिव के पास है। इसका फायदा यह भी होता है कि पूरे शहर में सब्जी का एक ही रेट होता है। कोरोना में ज्यादा से ज्यादा वेंडर्स को सब्जियां और फल बेचने की मंजूरी दी गई। इस समय शहर में लगने वाली साप्ताहिक मंडियां बंद है। इसलिए मार्च और अप्रैल में जिन वेंडर्स को बस में बिठाकर लोगों के रिहायशी इलाके तक सब्जियां और फल की सप्लाई पहुंचाई गई उन्हें अब नगर निगम की ओर से सरकारी जमीन पर निशुल्क बिठाया गया है। इस समय शहर में 800 से ज्यादा वेंडर्स सब्जी और फल बेचने का काम कर रहे हैं। मार्केट कमेटी द्वारा सब्जियों और फल के जो सरकारी रेट तय किए जाते है, उनकी सूची अधिकारियों और कर्मचारियों की ओर से शहरवासियों के वाट्सएप ग्रुपों में भी जानकारी के लिए शेयर की जाती थी। इस समय सब्जियों के दाम निरंतर गिर रहे हैं। सब्जियों की सप्लाई भी बढ़ गई है। मार्केट कमेटी होलसेल में होने वाले कारोबार का रिकार्ड भी रखता है। जिस पर दो फीसद फीस भी मार्केट कमेटी को कमाई के तौर पर मिलती है।यह अच्छा है कि मार्केट कमेटी ने फिर से सब्जियों और फल के रिटेल में रेट तय करने शुरू कर दिए हैं। लेकिन प्रशासन को तय रेट से ज्यादा वसूल करने वाले विक्रेताओं पर भी सख्ती से कार्रवाई करनी चाहिए तभी इस सिस्टम का फायदा है। मनमर्जी के रेट वसूल करने वाले वेंडर्स को काम करने का अधिकार नहीं देना चाहिए।
==
Have something to say? Post your comment
More Chandigarh News
शास्त्रीय गायिका डा. संगीता चौधरी सम्मानित
निर्यात को गति देने के लिए 5 प्रतिशत आरओडीटीईपी दर की तत्काल जरूरत : एल्युमीनियम उद्योग घर बैठे ट्राईसिटी के हजारो निरंकारी श्रद्धालु परिवारों ने वर्चुअल रूप में तीन दिवीसय 54वें प्रादेशिक निरंकारी सन्त समागम को देखकर आन्नद उठाया वास्तविक मनुष्य बनने के लिए मानवीय गुणों को अपनाना आवश्यक - सत्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज यज्ञनिष्ठ,कर्मठ समाजसेवी व आर्य समाजी थी सुमनलता गुप्ता -राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य फर्नीचर मार्किट सेक्टर 34सी चंडीगढ़ में लगा रक्तदान शिविर ब्राह्मण सभा धर्मशाला में लगा रक्तदान शिविर 60 रक्तदानियों ने किया रक्तदान *डीजीपी हरियाणा ने की ’हिफ़ाज़त’ अभियान की शुरूआत* प्रदुम्न सिंह एचसीएस की सेवाए चंडीगढ़ प्रशासन को सौंपी
चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन की खाली जमीन को लीज पर देने की तैयारी जमीन को लीज पर देने के लिए जारी किया रिक्वेस्ट फॉर प्रपोजल