Sunday, March 07, 2021
Follow us on
 
BREAKING NEWS
गन प्वांइट पर फॉर्च्यूनर कार लूटने वालें आरोपियो को भेजा जेल क्राईंम ब्राचं पचंकूला ने भैसं चोर को लिया पुलिस रिमाण्ड पर संगरूर सांसद भगवंत मान ने किसान आंदोलन को लेकर पंजाब की कांग्रेस पार्टी और शिरोमणि अकाली दल नेताओं पर तीखी टिप्पणी कीकांग्रेस सदन में किसानों के मुद्दे पर सरकार के ख़िलाफ़ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी - भूपेंद्र सिंह हुड्डाजजपा ने पंचकूला नगर निगम मेयर व वार्ड मेंबर्स के चुनाव के लिए कमर कसी उपायुक्त जयबीर सिंह आर्य ने लघु सचिवालय परिसर, चिडिय़ाघर रोड़, बीपीएस रोड़ और हुडा पार्क के आसपास किया निरीक्षण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसानों को वो कानूनी अधिकार दे रहे हैं-- रत्नलाल कटारिया कोविड-19 टीकाकरण के लिए गठित जिला स्तरीय टास्क फोर्स कमेटी की पहली बैठक में हुई तैयारियों की समीक्षा
 
 
 
Chandigarh

चंडीगढ़ नगर निगम के पार्षदों के खातों में लाखों रुपये के फंड पड़े हुए हैं लेकिन नगर निगम की वित्तीय हालत पतली होने की वजह से यह रकम पार्षदों के खातों में क्रेडिट नहीं हो पा रही, जिस कारण शहर के विकास कार्य लटके

December 14, 2020 08:26 PM
चंडीगढ़-  अग्रजन पत्रिका ब्यूरो-चंडीगढ़ नगर निगम के पार्षदों के खातों में लाखों रुपये के फंड पड़े हुए हैं लेकिन नगर निगम की वित्तीय हालत पतली होने की वजह से यह रकम पार्षदों के खातों में क्रेडिट नहीं हो पा रही, जिस कारण शहर के विकास कार्य लटके हुए हैं। इस वर्ष तो कोरोना के कारण स्थिति और खराब रही है। नगर निगम कुछ चुनिंदा काम ही वार्ड फंड से करा सका है। स्थिति यह है कि कांग्रेस पार्षद सतीश कैंथ के खाते में सबसे ज्यादा 105.57 लाख रुपये बचे हैं। हालांकि चंद्रवती शुक्ला, आशा जसवाल और कंवरजीत सिंह ने अपने-अपने वार्ड फंड का उपयोग कर लिया है।  निगम आयुक्त केके यादव ने बताया कि पार्षदों ने अपने वार्ड के विकास कार्यों की सूची नगर निगम को दी है लेकिन कोरोना महामारी के कारण निगम के बजट में 20 प्रतिशत को कटौती की घोषणा के बाद यह विकास कार्य करना संभव नहीं हो पा रहा था। इस संबंध में पार्षदों को जानकारी दे दी गई थी कि नगर निगम पहले ही वित्तीय संकट से जूझ रहा है। नगर निगम ने अपने वित्तीय बजट में जो रेवेन्यू लाने की बात कही थी, कोरोना महामारी में वह बजट भी कम हो गया। ऐसी स्थिति में नगर निगम के सामने यही विकल्प था कि कामों की प्राथमिकता सूची तय की जाए और उसी आधार पर शहर के विकास कार्य हों। कोरोना महामारी के कारण इस साल किसी भी पार्षद को वार्ड फंड आवंटित नहीं किया गया। वहीं, महापौर, वरिष्ठ उप महापौर व उप महापौर को मिलने वाला अतिरिक्त फंड भी नहीं दिया गया है। अभी हाल ही में तैयार की गई सूची में पिछले तीन साल का बजट देखा गया था। उसी आधार पर आगामी वर्ष में वार्ड में विकास कार्य की रूपरेखा तैयार करेंगे।
अटके हैं काम, कई पार्षदों ने अपने वार्ड की सूची दी थी। पार्षदों ने अपने वार्ड में विकास कार्य कराने के लिए काम की सूची दी हुई है, लेकिन वित्तीय समस्या के कारण काम हो नहीं सके या काम की स्वीकृति के बाद शुरू नहीं हो सके। कई कार्यों के तो पैसे भी वार्ड फंड से कट गए हैं, लेकिन काम नहीं हो सके हैं।
अधिकारियों ने बताया कि अभी हाल ही में पार्षदों ने बताया कि उनके वार्ड में काफी कार्य अधूरे हैं। महापौर राजबाला मलिक ने कहा कि सभी वार्डों में 30 लाख तक के विकास कार्य कराए जाएं। अभी पार्षदों से उनके वार्डों की प्राथमिकता सूची मांगी है। सूची आने के बाद ज्यादातर कार्यों को वार्ड फंड से ही कराया जाएगा ताकि उस फंड का भी उपयोग हो सके और वार्ड में विकास कार्य भी हो सकें। नगर निगम के कमिश्नर कमल किशोर यादव ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण इस वर्ष वार्ड फंड से काम नहीं हो सके। अभी 30 लाख तक के कार्य पार्षदों के वार्डों में कराने की तैयारी है।
बॉक्स- पार्षद महेश इंदर सिंह के खाते में 19.96 लाख, मेयर राजबाला मलिक के खाते में 56.39 लाख, पार्षद रविकांत शर्मा के खाते में 20.90 लाख, सुनीता धवन के खाते में 41.32 लाख, शीला देवी के खाते में 14.95 लाख, फर्मिला देवी के खाते में 99.05 लाख, पूर्व मेयर राजेश कालिया के खाते में 46.16 लाख, अरुण सूद के खाते में 50.37 लाख, गुरुबख्श रावत के खाते में 8.05 लाख, हरदीप सिंह के खाते में 1.78 लाख, सतीश कैंथ के खाते में 105.57 लाख, हीरा नेगी के खाते में 76.07 लाख, रविन्दर कौर के 38.62 लाख, राजेश गुप्ता के 25.97 लाख, देवेंद्र सिंह बबला के 37.69 लाख, दिलीप शर्मा के 43.97 लाख, शक्ति प्रकाश देवशाली के 84.55 लाख, गुरप्रीत सिंह के 47.52 लाख, देवेश मोदगिल के खाते में 84.91 लाख, भरत कुमार के खाते में 47.30 लाख, अनिल कुमार दुबे के खाते में 36.92 लाख, जगतार सिंह के खाते में 53.66 और विनोद अग्रवाल के खाते में 31.96 लाख रुपये बचे हैं।
Have something to say? Post your comment
More Chandigarh News
शास्त्रीय गायिका डा. संगीता चौधरी सम्मानित
निर्यात को गति देने के लिए 5 प्रतिशत आरओडीटीईपी दर की तत्काल जरूरत : एल्युमीनियम उद्योग घर बैठे ट्राईसिटी के हजारो निरंकारी श्रद्धालु परिवारों ने वर्चुअल रूप में तीन दिवीसय 54वें प्रादेशिक निरंकारी सन्त समागम को देखकर आन्नद उठाया वास्तविक मनुष्य बनने के लिए मानवीय गुणों को अपनाना आवश्यक - सत्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज यज्ञनिष्ठ,कर्मठ समाजसेवी व आर्य समाजी थी सुमनलता गुप्ता -राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य फर्नीचर मार्किट सेक्टर 34सी चंडीगढ़ में लगा रक्तदान शिविर ब्राह्मण सभा धर्मशाला में लगा रक्तदान शिविर 60 रक्तदानियों ने किया रक्तदान *डीजीपी हरियाणा ने की ’हिफ़ाज़त’ अभियान की शुरूआत* प्रदुम्न सिंह एचसीएस की सेवाए चंडीगढ़ प्रशासन को सौंपी
चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन की खाली जमीन को लीज पर देने की तैयारी जमीन को लीज पर देने के लिए जारी किया रिक्वेस्ट फॉर प्रपोजल