Sunday, January 24, 2021
Follow us on
 
BREAKING NEWS
गन प्वांइट पर फॉर्च्यूनर कार लूटने वालें आरोपियो को भेजा जेल क्राईंम ब्राचं पचंकूला ने भैसं चोर को लिया पुलिस रिमाण्ड पर संगरूर सांसद भगवंत मान ने किसान आंदोलन को लेकर पंजाब की कांग्रेस पार्टी और शिरोमणि अकाली दल नेताओं पर तीखी टिप्पणी कीकांग्रेस सदन में किसानों के मुद्दे पर सरकार के ख़िलाफ़ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी - भूपेंद्र सिंह हुड्डाजजपा ने पंचकूला नगर निगम मेयर व वार्ड मेंबर्स के चुनाव के लिए कमर कसी उपायुक्त जयबीर सिंह आर्य ने लघु सचिवालय परिसर, चिडिय़ाघर रोड़, बीपीएस रोड़ और हुडा पार्क के आसपास किया निरीक्षण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसानों को वो कानूनी अधिकार दे रहे हैं-- रत्नलाल कटारिया कोविड-19 टीकाकरण के लिए गठित जिला स्तरीय टास्क फोर्स कमेटी की पहली बैठक में हुई तैयारियों की समीक्षा
 
 
 
Chandigarh

सरकार का साथ दे रहे जेजेपी और निर्दलीय विधायकों को किसान से ज्यादा कुर्सी प्यारी- हुड्डा

December 02, 2020 09:38 PM

चंडीगढ़, , 2 दिसंबर -- अग्रजन पत्रिका ब्यूरो-- सरकार का साथ दे रहे जेजेपी और निर्दलीय विधायकों को किसान से ज्यादा कुर्सी प्यारी है। उन्हें किसानों का साथ देने के लिए फौरन इस सरकार से समर्थन वापस ले लेना चाहिए। ये कहना है पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा का। हुड्डा का कहना है कि आज प्रदेश का अन्नदाता सड़कों पर है और उनका वोट लेने वाले जेजेपी और निर्दलीय विधायक सत्ता का लुफ्त उठा रहे हैं। किसान का वोट लेकर किसान विरोधी सरकार और नीतियों का साथ देने वालों के प्रति जनता में रोष है। ये विधायक लोकतांत्रिक और शांतिपूर्ण तरीक़े से आंदोलन कर रहे किसानों पर लाठियां, आंसू गैसे और वाटर कैनन चलाने वाली सरकार के ख़िलाफ़ एक शब्द नहीं बोल रहे हैं।


भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि कई महीने से प्रदेश का किसान धरने-प्रदर्शन कर रहा है। बावजूद इसके सरकार टस से मस होने का नाम नहीं ले रही। सरकार के रवैए को देखकर स्पष्ट है कि आने वाले दिनों में ये आंदोलन और बड़ा हो सकता है। एक जिम्मेदार विपक्ष होने के नाते हम किसानों की मांगों के साथ खड़े हैं। लेकिन किसानों का वोट लेकर विधानसभा में पहुंचे जेजेपी और निर्दलीय विधायक सरकार के साथ खड़े हैं। इन विधायकों को वोट देने वाले किसान आज अपने आप को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं। क्योंकि किसानों ने इन्हें बीजेपी सरकार को सत्ता से बाहर करने के लिए वोट दिए थे। लेकिन इन विधायकों ने चुनाव जीतने के बाद बीजेपी को फिर से सत्ता में लाने का काम किया। इसी का ख़ामियाजा आज किसानों को भुगतना पड़ रहा है।


नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि पंजाब में अकाली दल ने बीजेपी का साथ छोड़ दिया है, राजस्थान की आरएलपी ने भी एनडीए छोड़ने की बात कही है। इतना ही नहीं हरियाणा में भी सरकार को समर्थन दे रहे दो विधायकों ने चेयरमैन पद को त्यागते हुए सरकार से बग़ावत का ऐलान किया है। स्पष्ट है कि बीजेपी-जेजेपी सरकार की नींव हिलने लगी है। बाकी विधायकों को भी निजी स्वार्थ त्यागकर इस सरकार से बाहर आना चाहिए और किसानों का साथ देना चाहिए। क्योंकि किसानों की मांगे पूरी तरह जायज़ हैं। सरकार को आंदोलन के और बड़ा होना का इंतज़ार नहीं करना चाहिए। जल्द से जल्द किसानों की मांगे मानी जाएं और उन्हें एमएसपी की गारंटी दी जाए।

Have something to say? Post your comment
More Chandigarh News
आगामी 25 जनवरी को हरियाणा सिविल सचिवालय चंडीगढ़ में 11वां राज्यस्तरीय मतदाता दिवस वर्चुअल तौर पर मनाया जाएगा।
तांडव फिल्म( वेब सीरीज) को तुरंत बैन किया जाए।प्रवक्ता अशोक तिवारी
आल कांटरैकचुअल करमचारी संघ ने कांटरैकट व आउटसोर्सिंग वरकरस की मांगो के लिए शासन व चंडीगढ प्रशासन के खिलाफ की रैली ...ठंड के बावजूद कांटरैकट कर्मियों का उमडा हुजूम
परिवार पहचान-पत्र के बिना नही होगा रबी फसलों का पंजीकरण
उत्तराखंड जन चेतना मंच का पुनर्गठन
200 कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारी दी अगर यह तीन कानून वापस नहीं लिए तो आगे भी ऐसे प्रदर्शन होंगे--अध्यक्ष प्रदीप छाबड़ा 16 हस्पताल में सफाई कर्मचारी अरुण, 32 हस्पताल के एम एस डा. रवि गुप्ता और पी जी आईं के डा. मनिंदर को लगा पहला टीका
श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र चंडीगढ़ के सभी सदस्यों ने निकाली भव्य शोभा यात्रा
लोहड़ी व मकर संक्रांति का वैदिक स्वरूप पर गोष्ठी संम्पन्न
चंडीगढ़ स्थित डिजिटल मार्केटिंग कंपनी अंर्तजाल के प्रसिद्ध उद्यमी और सीईओ मैडम दीपका बाहरी को आज प्रेस क्लब चंडीगढ़ में वुमेन्स इंडियन चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री की चंडीगढ़ अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया