Friday, January 22, 2021
Follow us on
 
BREAKING NEWS
गन प्वांइट पर फॉर्च्यूनर कार लूटने वालें आरोपियो को भेजा जेल क्राईंम ब्राचं पचंकूला ने भैसं चोर को लिया पुलिस रिमाण्ड पर संगरूर सांसद भगवंत मान ने किसान आंदोलन को लेकर पंजाब की कांग्रेस पार्टी और शिरोमणि अकाली दल नेताओं पर तीखी टिप्पणी कीकांग्रेस सदन में किसानों के मुद्दे पर सरकार के ख़िलाफ़ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी - भूपेंद्र सिंह हुड्डाजजपा ने पंचकूला नगर निगम मेयर व वार्ड मेंबर्स के चुनाव के लिए कमर कसी उपायुक्त जयबीर सिंह आर्य ने लघु सचिवालय परिसर, चिडिय़ाघर रोड़, बीपीएस रोड़ और हुडा पार्क के आसपास किया निरीक्षण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसानों को वो कानूनी अधिकार दे रहे हैं-- रत्नलाल कटारिया कोविड-19 टीकाकरण के लिए गठित जिला स्तरीय टास्क फोर्स कमेटी की पहली बैठक में हुई तैयारियों की समीक्षा
 
 
 
Chandigarh

--सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा किसान आंदोलन के खुलकर दिया समर्थन

November 30, 2020 08:43 PM

चंडीगढ़,30 नवंबर।-- अग्रजन पत्रिका ब्यूरो-- सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा किसान आंदोलन के खुलकर समर्थन में आ खड़ा हुआ है। संघ ने किसान विरोधी तीन कृषि कानूनों के खिलाफ टिकरी व सिंघू बार्डर पर डेरा जमाए किसानों के लिए मेडीकल कैंप लगाकर स्वास्थ्य साहयता प्रदान करने और आवश्यकता अनुसार सीटू एवं किसान सभा के साथ मिलकर खानें की व्यवस्था करने का फैसला लिया है। सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा ने 3 दिसंबर को किसानों के आंदोलन के समर्थन में प्रदेशभर में विरोध प्रदर्शन करने का भी फैसला किया है। यह फैसला सोमवार को प्रदेशाध्यक्ष सुभाष लांबा की अध्यक्षता में राज्य कार्यकारिणी की आयोजित आन लाइन मीटिंग में लिया गया। बैठक से पहले सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के एक शिष्टमंडल ने राज्य उप महासचिव सबिता मलिक के नेतृत्व में टिकरी बार्डर का दौरा किया। किसानों से मुलाकात करने के उपरांत ही यह निर्णय लिया गया। महासचिव सतीश सेठी द्वारा संचालित मीटिंग में मोदी सरकार द्वारा कारपोरेट को फायदा पहुंचाने के लिए संसद में जबरन तरीके से पारित किए गए तीन कृषि बिलों के किसानों एवं आम जनता पर पड़ने वाले प्रभावों की जानकारी देने और किसान आंदोलन के प्रति एकजुटता प्रकट करने के लिए सभी विभागों एवं शहरों व कस्बों में सभाएं आयोजित करने का भी फैसला लिया गया। इन सभाओं के माध्यम से सरकार के किसान आंदोलन के प्रति रवैए का बखान करते हुए किसान आंदोलन के प्रति जनसमर्थन जुटाने का काम किया जाएगा। सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के प्रदेशाध्यक्ष सुभाष लांबा व महासचिव सतीश सेठी ने यह जानकारी देते हुए बताया कि कर्मचारियों व मजदूरों के आंदोलन का किसानों ने हमेशा सहयोग एवं समर्थन दिया है। इसलिए अब कर्मचारियों और मजदूरों की बारी है और अब किसान आंदोलन का तन-मन-धन से सहयोग किया जाएगा। उन्होंने कहा कि राष्टÑीय किसान मोर्चा, किसान व कर्मचारी विरोधी और बिजली वितरण को निजी घरानों को सौंपने के लिए बिजली संशोधन बिल 2020 को वापस लेने की भी मांग भी उठा रहा है। उन्होंने कहा कि यह मांग कर्मचारी व किसानों की सांझी है, इसलिए आंदोलन भी सांझा है। उन्होंने कहा कि अगर बिजली बिल 2020 संसद में पारित किया तो बिजली किसान व गरीब की पहुंच से बाहर हो जाएंगी। इसलिए इसका विरोध करना आवश्यक है। बैठक में केन्द्र सरकार द्वारा सशर्त बातचीत करने की घोर निन्दा की गई और बिना शर्त खुले दिल से बातचीत करने की मांग की गई।

Have something to say? Post your comment
More Chandigarh News
तांडव फिल्म( वेब सीरीज) को तुरंत बैन किया जाए।प्रवक्ता अशोक तिवारी
आल कांटरैकचुअल करमचारी संघ ने कांटरैकट व आउटसोर्सिंग वरकरस की मांगो के लिए शासन व चंडीगढ प्रशासन के खिलाफ की रैली ...ठंड के बावजूद कांटरैकट कर्मियों का उमडा हुजूम
परिवार पहचान-पत्र के बिना नही होगा रबी फसलों का पंजीकरण
उत्तराखंड जन चेतना मंच का पुनर्गठन
200 कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारी दी अगर यह तीन कानून वापस नहीं लिए तो आगे भी ऐसे प्रदर्शन होंगे--अध्यक्ष प्रदीप छाबड़ा 16 हस्पताल में सफाई कर्मचारी अरुण, 32 हस्पताल के एम एस डा. रवि गुप्ता और पी जी आईं के डा. मनिंदर को लगा पहला टीका
श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र चंडीगढ़ के सभी सदस्यों ने निकाली भव्य शोभा यात्रा
लोहड़ी व मकर संक्रांति का वैदिक स्वरूप पर गोष्ठी संम्पन्न
चंडीगढ़ स्थित डिजिटल मार्केटिंग कंपनी अंर्तजाल के प्रसिद्ध उद्यमी और सीईओ मैडम दीपका बाहरी को आज प्रेस क्लब चंडीगढ़ में वुमेन्स इंडियन चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री की चंडीगढ़ अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया
शहर के विभिन्न सगठनो ने कृषि कानूनों की प्रतियां जलाकर मनाई काली लोहड़ी