Friday, January 22, 2021
Follow us on
 
BREAKING NEWS
गन प्वांइट पर फॉर्च्यूनर कार लूटने वालें आरोपियो को भेजा जेल क्राईंम ब्राचं पचंकूला ने भैसं चोर को लिया पुलिस रिमाण्ड पर संगरूर सांसद भगवंत मान ने किसान आंदोलन को लेकर पंजाब की कांग्रेस पार्टी और शिरोमणि अकाली दल नेताओं पर तीखी टिप्पणी कीकांग्रेस सदन में किसानों के मुद्दे पर सरकार के ख़िलाफ़ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी - भूपेंद्र सिंह हुड्डाजजपा ने पंचकूला नगर निगम मेयर व वार्ड मेंबर्स के चुनाव के लिए कमर कसी उपायुक्त जयबीर सिंह आर्य ने लघु सचिवालय परिसर, चिडिय़ाघर रोड़, बीपीएस रोड़ और हुडा पार्क के आसपास किया निरीक्षण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसानों को वो कानूनी अधिकार दे रहे हैं-- रत्नलाल कटारिया कोविड-19 टीकाकरण के लिए गठित जिला स्तरीय टास्क फोर्स कमेटी की पहली बैठक में हुई तैयारियों की समीक्षा
 
 
 
Chandigarh

किसानों पर दर्ज एफआईआर तुरंत ली जाएं वापस, गिरफ्तार किसान तुरंत हों रिहा- कुमारी सैलजा

November 29, 2020 10:37 PM
किसानों पर दर्ज एफआईआर तुरंत ली जाएं वापस, गिरफ्तार किसान तुरंत हों रिहा- कुमारी सैलजा
 
 
प्रधानमंत्री मोदी जी द्वारा मन की बात में की गईं सिर्फ खोखली बातें- सैलजा
 
 
केंद्रीय गृह मंत्री द्वारा किसानों से बातचीत के लिए शर्त रखना बताता है कि केंद्र सरकार की नीयत में खोट है- सैलजा
 
 
चंडीगढ़, 29 नवंबर :- अग्रजन पत्रिका ब्यूरो--
हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी सैलजा ने भाजपा-जजपा सरकार से हरियाणा प्रदेश में दस हजार से ज्यादा किसानों पर दर्ज एफआईआर तुरंत वापस लेने और गिरफ्तार किसानों को तुरंत रिहा करने की मांग की है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कृषि विरोधी काले कानूनों को लेकर मन की बात में की गई बातों को खोखला करार दिया है। उन्होंने कहा कि देश के गृह मंत्री अमित शाह जी द्वारा किसानों से बातचीत के लिए जो शर्त रखी गई है, उससे साफ प्रतीत होता है कि केंद्र की भाजपा सरकार की नीयत में खोट है। 
 
 
यह बातें हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी सैलजा ने यहां जारी बयान में कहीं।
 
 
कुमारी सैलजा ने कहा कि सरकार द्वारा पहले कृषि विरोधी काले कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों पर ठंड में पानी की बौछार मारी गईं, किसानों पर आँसू गैस के गोले दागे गए, उनपर लाठीचार्ज किया गया। इस सरकार द्वारा किसानों पर भारी अत्याचार किए जाने के बाद अब उन्हीं पीड़ित किसानों पर एफआईआर दर्ज कर दी गई है। केंद्र की भाजपा सरकार और प्रदेश की भाजपा-जजपा सरकार किसानों को पूरी तरह से कुचलने पर तुली हुई है। हमारे अन्नदाता जो अपने हक के लिए इन कृषि विरोधी काले कानूनों के खिलाफ संघर्षरत हैं, उनपर एफआईआर दर्ज करना किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। उनसे अपराधियों जैसा बर्ताव किया जाना बेहद ही दुर्भाग्यपूर्ण है। मेहनतकश किसान देश की रीढ़ है, कोई अपराधी नहीं हैं। हरियाणा की भाजपा-जजपा सरकार किसानों पर दर्ज मुकदमे तुरंत वापस ले और गिरफ्तार किसानों को तुरंत रिहा करे।
 
 
कुमारी सैलजा ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी जी द्वारा मन की बात में सिर्फ खोखली बातें की गई हैं। प्रधानमंत्री मोदी जी द्वारा मन की बात में सिर्फ किसानों का अपमान किया गया है। प्रधानमंत्री मोदी जी को सिर्फ अपने पूंजीपति मित्रों का हित दिख रहा है। अपने पूंजीपति मित्रों को फायदा पहुंचाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी जी ने कृषि विरोधी काले कानूनों के जरिए किसानों के हितों की बलि चढ़ा दी है। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से सवाल पूछते हुए कहा कि प्रधानमंत्री जी देश को बताएं कि कृषि विरोधी बिल पास करने से पहले किसानों से सलाह क्यों नहीं ली गई? न्यूनतम समर्थन मूल्य की गारंटी कृषि कानून में क्यों नहीं है? किसानों पर लगातार अत्याचार क्यों किया जा रहा है? किसानों से बातचीत के लिए शर्त क्यों लगाई जा रही है?
 
 
कुमारी सैलजा ने केंद्र सरकार द्वारा किसानों से बातचीत के लिए रखी गई शर्तों को लेकर भी सवाल उठाते हुए कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार की नीयत में शुरूआत से ही खोट रहा है। यही कारण है कि पहले इस सरकार द्वारा तरह-तरह के अत्याचार कर किसान आंदोलन को दबाने का प्रयास किया गया, तरह-तरह के ओछे हाथकंडे अपनाए गए। लेकिन सरकार इसमें असफल साबित हुई। अब देश के गृह मंत्री अमित शाह जी द्वारा किसानों से बातचीत के लिए शर्त रखना बताता है कि इस सरकार की मंशा ही नहीं है कि वह किसानों से बातचीत करे और उनकी मांगों पर गौर करे। सरकार इन काले कानूनों के जरिए अपने पूंजीपति मित्रों को फायदा पहुंचाने के लिए किसी भी हद तक जा सकती है।
 
 
 *सिंघु बॉर्डर से बड़ी खबर* 
 
*🔥हरियाणा सियासी दांव-पेंच ग्रुप🔥*
 
नए किसान आंदोलनकारी पहुंचे सिंघु बॉर्डर पर 
 
सिंघु बॉर्डर से नरेला जाने वाला रास्ता भी किया ब्लॉक
 
 
सिंघु बॉर्डर में जहां प्रदर्शन चल रहा था वहां दो पुलिस बैरिकेडिंग के दूसरी तरफ नया रास्ता भी ब्लॉक किया
 
आज नए किसान आंदोलनकारी सोनीपत साइड से सिंधु बॉर्डर के दूसरी तरफ यानी दिल्ली की तरफ पहुंचे थे
 
अब सिंघु बॉर्डर के यू-टर्न से नरेला की तरफ जाने वाला रास्ता भी बंद
 
 
पुलिस की नाकेबंदी बीच में है और दोनों तरफ किसान सड़क पर हैं
 
*🔥हरियाणा सियासी दांव-पेंच ग्रुप🔥*
 
 
 
 
Have something to say? Post your comment
More Chandigarh News
तांडव फिल्म( वेब सीरीज) को तुरंत बैन किया जाए।प्रवक्ता अशोक तिवारी
आल कांटरैकचुअल करमचारी संघ ने कांटरैकट व आउटसोर्सिंग वरकरस की मांगो के लिए शासन व चंडीगढ प्रशासन के खिलाफ की रैली ...ठंड के बावजूद कांटरैकट कर्मियों का उमडा हुजूम
परिवार पहचान-पत्र के बिना नही होगा रबी फसलों का पंजीकरण
उत्तराखंड जन चेतना मंच का पुनर्गठन
200 कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारी दी अगर यह तीन कानून वापस नहीं लिए तो आगे भी ऐसे प्रदर्शन होंगे--अध्यक्ष प्रदीप छाबड़ा 16 हस्पताल में सफाई कर्मचारी अरुण, 32 हस्पताल के एम एस डा. रवि गुप्ता और पी जी आईं के डा. मनिंदर को लगा पहला टीका
श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र चंडीगढ़ के सभी सदस्यों ने निकाली भव्य शोभा यात्रा
लोहड़ी व मकर संक्रांति का वैदिक स्वरूप पर गोष्ठी संम्पन्न
चंडीगढ़ स्थित डिजिटल मार्केटिंग कंपनी अंर्तजाल के प्रसिद्ध उद्यमी और सीईओ मैडम दीपका बाहरी को आज प्रेस क्लब चंडीगढ़ में वुमेन्स इंडियन चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री की चंडीगढ़ अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया
शहर के विभिन्न सगठनो ने कृषि कानूनों की प्रतियां जलाकर मनाई काली लोहड़ी