Thursday, October 22, 2020
Follow us on
 
BREAKING NEWS
ब्रेकिंग पंचकूला---पंचकूला में एक साल की बच्ची मिली कोरोना पॉजिटिव,ब्रेकिंग न्यूज़ --अब लॉकडाउन ख़त्म , शुरू हुआ अनलॉक -1 , गृह मंत्रालय ने 1 जून से 30 जून तक अनलॉक -1 का जारी किया गाइड लाइन :-Big ब्रेकिंग panchkula .*. *सेक्टर 5 पंचकूला थाने में कार्यरत पुलिस की महिला कर्मी लांगरी मिली कोरोना पॉजिटिव,*ब्रेकिंग न्यूज़ -हरियाणा सरकार ने प्रदेश में सामान्य, लग्जरी और सुपर लग्जरी बसों के किराये को 85 पैसा प्रति यात्री प्रति किलोमीटर से बढ़ाकर एक रुपया प्रति यात्री प्रति किलोमीटर करने का निर्णय लिया है ब्रेकिंग न्यूज़-अखिल भारतीय अग्रवाल सम्मेलन ने ज़रूरतमंदो को बाँटे 92500 भोजन के पैकेट*बिग ब्रेकिंग न्यूज़ -चंडीगढ़ में आज कोरोना के 11 नए संक्रमित मरीज़ मिले। चंडीगढ़ में अब तक पाये गए कुल संक्रमित मरीज 56 हो गए हैं। इनमें 39 एक्टिव मामले हैं। बिग ब्रेकिंग पंचकूला----INDIAN MEDICAL ASSOCIATION(IMA) ने किया एलान, 22 अप्रैल बुधवार रात 9 बजे किया जाएगा white अलर्ट,ब्रेकिंग पंचकूला---.पंचकूला में कोरोना का एक ओर केस कन्फर्म
 
 
 
Chandigarh

आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब ने पराली की समस्या के लिए प्रदेश और केंद्र सरकार को सीधे तौर पर जिम्मेदार ठहराया है।

October 17, 2020 09:39 PM
चंडीगढ़-- अग्रजन पत्रिका ब्यूरो--
आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब ने पराली की समस्या के लिए प्रदेश और केंद्र सरकार को सीधे तौर पर जिम्मेदार ठहराया है। 
    पार्टी हैडक्वाटर से जारी बयान के द्वारा सीनियर नेता और नेता प्रतिपक्ष हरपाल सिंह चीमा, उप नेता बीबी सरबजीत कौर माणूंके और प्रदेश महासचिव हरचन्द सिंह बरसट ने कहा कि पंजाब और केंद्र की निकम्मी, मौकाप्रस्त और दिशाहीण सरकारें किसानों को ही हर पक्ष से मारने पर तुली हुई हैं। पराली की समस्या इस की सटीक सहित मिसाल है। साढ़े तीन दशकों में केंद्र और पंजाब की किसी भी सरकार ने पराली के लाभदायक निपटारे के लिए कोई कारगर कदम नहीं उठाया। इस मामले में अमरिन्दर सिंह सरकार सब से निकम्मी सरकार साबित हुई है। जिस ने किसानों, जनता और आबो-हवा को लाभ पहुंचाने वाली दूरअन्देशी नीति तो क्या बनानी थी, बल्कि पराली के निपटारे के लिए माननीय सुप्रीम कोर्ट और नैशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) के आदेशों मुताबिक किसानों को बनता मुआवजा और हैपीसीडर आदि यंत्र भी मुहैया नहीं करवाए।
    हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि 6 नवंबर 2019 को सुप्रीम कोर्ट ने पराली न जलाने के लिए प्रति एकड़ 2400 रुपए मुआवजा देने और 2015 में एनजीटी ने स्पष्ट निर्देश दिया था कि पराली के निपटारे के लिए 2 एकड़ से कम जमीन के मालिक किसान को हैपीसीडर और अन्य जरुरी यंत्र सरकार मुफ्त मुहैया करे। जबकि 2 से 5 एकड़ वाले किसानों को यह यंत्र 5000 रुपए और 5 एकड़ से ज्यादा मालकी वाले किसानों को 15000 रुपए में दिए जाएं, परंतु पंजाब में न पिछली बादल सरकार और न ही मौजूदा अमरिन्दर सिंह सरकार ने किसानों को अपेक्षित मात्रा में यह यंत्र मुहैया करने में कोई रुचि नहीं दिखाई उल्टा फर्जी आंकड़ों पर आधारित ऐसी बयानबाजी की जिस में से बड़े घोटाले की दुर्गंध आ रही है। 
    हरपाल सिंह चीमा और बीबी माणूंके ने कैप्टन सरकार के उस दावे पर सवाल उठाया कि इस साल 75000 मशीनें (जिनमें लगभग 51000 पिछली हैं) का प्रबंध किया है। जिस के साथ इस सीजन में आग लगाने की घटनाओं में 40 प्रतिशत कमी आएगी, परंतु वास्तविकता यह है कि इस साल पराली पिछले साल के मुकाबले पराली जलाने में तीन गुणा बढ़ौतरी हुई है, जबकि धान के अधीन क्षेत्रफल पिछले साल की अपेक्षा ढाई लाख हैक्टेयर घटा है। 
    चीमा ने कहा कि फार्म हाऊस में बैठे अमरिन्दर सिंह ने किसानों को ‘भगवान भरोसे’ छोड़ दिया और कोरोना के बहाने से 2400 रुपए प्रति एकड़ मुआवजा देने से भी हाथ पीछे खींच लिए, जबकि यह मुआवजा पिछले साल के उन किसानों को दिया जाना था, जिन्होंने पराली नहीं जलाई थी और बाकायदा फार्म भरे थे, जो आज भी सम्बन्धित सोसायटियों में बेकार पड़े हुए हैं। ‘आप’ नेताओं ने सवाल किया कि क्या पिछले साल भी कोरोना था?
    चीमा ने कहा कि किसान बेबस हो कर पराली जलाता है, जिस का सब से अधिक प्रभाव किसान और उसके बच्चों पर होता है। कोरोना के दौर में किसानों की यह मजबूरी बच्चों और बुजुर्गों के लिए ओर भी घातक है। 
    हरचन्द सिंह बरसट और बीबी माणूंके ने मांग की है कि पराली के निपटारे के लिए 6000 से 7000 प्रति एकड़ खर्च आता है। जिस की भरपाई धान पर प्रति क्विंटल 200 रुपए मुआवजा दे कर की जाए। 
    ‘आप’ नेताओं मुताबिक यदि सरकार की नीयत सही होती तो बठिंडा थर्मल प्लांट को पराली पर चलाने की तजवीज रद्द न करती और प्रदेश में पराली पर आधारित बायो सीएनजी और बायो खाद प्लांट स्थापित करती।
 
 
 
 
Have something to say? Post your comment
More Chandigarh News
--- डॉ. अशोक कुमार गोदारा ने कहा कि किसान फसलों के अवशेष को जलाने की बजाय उनका उचित प्रबंधन करें ताकि पर्यावरण को प्रदुषित होने से बचाया जा सके --हरियाणा के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री श्री ओम प्रकाश यादव ने बताया कि प्रदेश के 28 लाख 87 हजार से अधिक लाभार्थियों को विभिन्न पेंशन योजनाओं के तहत लाभ दिया जा रहा है। --हरियाणा सरकार प्रदेश में स्कूली विद्यार्थियों की शिक्षा के प्रति गंभीर है। --हरियाणा के उपमुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि प्रदेश की अनाज मंडियों में फसलों की खरीद प्रक्रिया सुचारू रूप से चल रही है --हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल द्वारा फसल अवशेष व पराली प्रबंधन को लेकर पिछले छ: वर्षों में उठाये जा रहे कदमों के फलस्वरूप हरियाणा में हर वर्ष पराली जलाने के मामलों में निरन्तर कमी आ रही है -- हैफेड के चेयरमैन श्री कैलाश भगत ने कहा कि खरीद एजेंसी हैफेड ने धान की खरीद का अब तक 400 करोड़ रुपए की राशि का भुगतान कर दिया है --खान एवं भू-विज्ञान मंत्री श्री मूलचन्द शर्मा ने सभी उपायुक्तों को निर्देश दिए हैं कि प्रदेश में जहां कहीं भी अवैध खनन सामग्री का सीज किया हुआ स्टॉक पड़ा है, उसकी जल्द से जल्द नीलामी करवाई जाए
तीन विधेयक से मिलेगी किसानों को और अधिक प्रगति, मंडी व एमएसपी व्यवस्था रहेगी यूहीं : प्रदेश अध्यक्ष ओपी धनखड़*
मुख्यमंत्री शहीद पुलिस कर्मियों को स्मृति दिवस पर देंगे श्रद्धांजलि
गुरूग्राम पुलिस का वांछित बदमाश मुठभेड़ के उपरान्त अवैध हथियारों सहित हरियाणा पुलिस सोनीपत ने किया गिरफतार