Monday, March 08, 2021
Follow us on
 
BREAKING NEWS
गन प्वांइट पर फॉर्च्यूनर कार लूटने वालें आरोपियो को भेजा जेल क्राईंम ब्राचं पचंकूला ने भैसं चोर को लिया पुलिस रिमाण्ड पर संगरूर सांसद भगवंत मान ने किसान आंदोलन को लेकर पंजाब की कांग्रेस पार्टी और शिरोमणि अकाली दल नेताओं पर तीखी टिप्पणी कीकांग्रेस सदन में किसानों के मुद्दे पर सरकार के ख़िलाफ़ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी - भूपेंद्र सिंह हुड्डाजजपा ने पंचकूला नगर निगम मेयर व वार्ड मेंबर्स के चुनाव के लिए कमर कसी उपायुक्त जयबीर सिंह आर्य ने लघु सचिवालय परिसर, चिडिय़ाघर रोड़, बीपीएस रोड़ और हुडा पार्क के आसपास किया निरीक्षण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसानों को वो कानूनी अधिकार दे रहे हैं-- रत्नलाल कटारिया कोविड-19 टीकाकरण के लिए गठित जिला स्तरीय टास्क फोर्स कमेटी की पहली बैठक में हुई तैयारियों की समीक्षा
 
 
 
Sports

भारत से फिर हारा PAK, अब केस लड़ने का 60 फीसदी खर्च देना होगा

December 19, 2018 09:48 PM

आईसीसी के विवाद निवारण पैनल ने बुधवार को पाकिस्तान को मुआवजा मामले में बीसीसीआई द्वारा मांगे गए हर्जाने का 60 प्रतिशत भुगतान करने का आदेश दिया है.

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने द्विपक्षीय क्रिकेट को लेकर हुए समझौते का सम्मान नहीं करने पर बीसीसीआई के खिलाफ मुआवजे का दावा किया था, जिसे आईसीसी ने खारिज कर दिया था. अब इसके एक महीने बाद आईसीसी ने दोनों बोर्ड के लिए खर्चो का भुगतान तय कर दिया है.

आईसीसी ने अपने फैसले में कहा, ‘पैनल पीसीबी को हर्जाने तथा प्रशासनिक खर्च और पैनल के खर्चों का 60 प्रतिशत बीसीसीआई को भुगतान करने का आदेश देता है.’ पैनल का यह फैसला बाध्यकारी है.

दूसरी तरफ पैनल ने बीसीसीआई को भी प्रशासनिक खर्च और पैनल के खर्चों का 40 प्रतिशत भुगतान करने के लिए कहा गया है. फैसले में उस धनराशि का जिक्र नहीं है, जिसका दावा भारतीय बोर्ड ने किया था.

पीसीबी ने बीसीसीआई पर आरोप लगाया था कि उसने 2015 से 2023 तक छह द्विपक्षीय सीरीज खेलने से संबंधित समझौता ज्ञापन का सम्मान नहीं किया. उसने बीसीसीआई से 447 करोड़ रुपये मुआवजे के दावे की मांग की.

बीसीसीआई ने कहा था कि यह समझौता ज्ञापन बाध्यकारी नहीं था और यह मायने नहीं रखता, क्योंकि पाकिस्तान आईसीसी के लिए भारत के राजस्व ढांचा के समर्थन की प्रतिबद्धता का सम्मान करने में असफल रहा था.

आईसीसी ने इसके बाद पीसीबी के मुआवजा दावे पर गौर करने के लिए तीन सदस्यीय विवाद निवारण समिति का गठन किया. इसकी सुनवाई एक से तीन अक्टूबर के बीच आईसीसी मुख्यालय में हुई थी.

Have something to say? Post your comment
More Sports News
बीसीसीआई सचिव जय शाह ने किया न्यू चंडीगढ़ में पीसीए के न्यू क्रिकेट स्टेडियम का दौरा
रबल टीएमटी हिमाचल फुटबॉल लीग, हिमाचल एफसी और टेक्ट्रो स्वाड्स में होगा फाइनल मुकाबला
हार्दिक पंड्या-केएल राहुल पर लगा बैन हटा 1956 के ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट रघबीर सिंह भोला नही रहे पंड्या-राहुल के 'भविष्य' पर फैसले में होगी देरी, जानिए क्या है वजह विराट कोहली का खास संयोग से बना 15 जनवरी से शतक कनेक्शन हार्दिक पंड्या- केएल राहुल की जगह विजय शंकर और शुभमन गिल को वनडे टीम में मौका महिलाओं पर अश्लील टिप्पणी में फंसे पंड्या ने BCCI से मांगी माफी ऑस्ट्रेलिया में कुलदीप ने 64 साल पुराने रिकॉर्ड की बराबरी की, वॉर्न ने दी शाबाशी IND vs AUS: ऋषभ पंत ने बताया- मैदान पर छींटाकशी से उनको क्या मिलता है