Tuesday, March 09, 2021
Follow us on
 
BREAKING NEWS
गन प्वांइट पर फॉर्च्यूनर कार लूटने वालें आरोपियो को भेजा जेल क्राईंम ब्राचं पचंकूला ने भैसं चोर को लिया पुलिस रिमाण्ड पर संगरूर सांसद भगवंत मान ने किसान आंदोलन को लेकर पंजाब की कांग्रेस पार्टी और शिरोमणि अकाली दल नेताओं पर तीखी टिप्पणी कीकांग्रेस सदन में किसानों के मुद्दे पर सरकार के ख़िलाफ़ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी - भूपेंद्र सिंह हुड्डाजजपा ने पंचकूला नगर निगम मेयर व वार्ड मेंबर्स के चुनाव के लिए कमर कसी उपायुक्त जयबीर सिंह आर्य ने लघु सचिवालय परिसर, चिडिय़ाघर रोड़, बीपीएस रोड़ और हुडा पार्क के आसपास किया निरीक्षण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसानों को वो कानूनी अधिकार दे रहे हैं-- रत्नलाल कटारिया कोविड-19 टीकाकरण के लिए गठित जिला स्तरीय टास्क फोर्स कमेटी की पहली बैठक में हुई तैयारियों की समीक्षा
 
 
 
Sports

हॉकी WC: नीदरलैंड से हारकर भारत का विश्व कप जीतने का सपना टूटा

December 14, 2018 08:44 PM

पिछले 43 साल में पहली बार विश्व कप में पदक जीतने का भारतीय हॉकी टीम का सपना क्वार्टर फाइनल में नीदरलैंड से 1-2 से मिली हार के साथ टूट गया और आक्रामकता के इस मुकाबले में डच टीम का अनुभव मेजबान पर भारी पड़ा. अब सेमीफाइनल में 15 दिसंबर को इंग्लैंड का सामना बेल्जियम से और ऑस्ट्रेलिया का नीदरलैंड से होगा. खचाखच भरे कलिंगा स्टेडियम पर मौजूद करीब 15000 दर्शकों ने पूरे साठ मिनट ‘ चक दे इंडिया’, ‘जय हिंद ’ और ‘कम ऑन इंडिया ’ के नारे लगाकर भारतीय टीम की हौसलाअफजाई में कोई कसर नहीं छोड़ी. मैच देखने के लिए स्टार क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग भी पहुंचे थे.

भारतीय टीम ने अपेक्षा के अनुरूप प्रदर्शन भी किया, लेकिन 50वें मिनट में वान डेर वीरडेन मिंक के पेनल्टी कॉर्नर पर किए गोल ने उसे इतिहास रचने से रोक दिया. मैच का पहला गोल 12वें मिनट में भारत के लिए आकाशदीप सिंह ने किया, जबकि नीदरलैंड के लिए 15वें मिनट में थियरे ब्रिंकमैन ने बराबरी का गोल दागा.

तीन बार की चैम्पियन और पिछली उपविजेता नीदरलैंड को भारतीयों ने 50वें मिनट तक बराबरी पर रोके रखा. भारतीय डिफेंडरों ने खास तौर पर बेहतरीन प्रदर्शन करते डच फॉरवर्ड पंक्ति के कई शानदार मूव गोल में तब्दील नहीं होने दिए. भारतीय टीम ने पहले मिनट से ही आक्रामक हॉकी खेलते हुए पहले क्वार्टर में कई हमले बोले. तीसरे मिनट में हार्दिक सिंह से गेंद लेकर ललित उपाध्याय ने सर्कल के भीतर आकाशदीप को क्रॉस दिया, जो ट्रैप नहीं कर सके.

 

भारत को लगातार हमलों का फल 12वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर के रूप में मिला जिस पर हरमनप्रीत की ड्रैग फ्लिक नीदरलैंड के गोलकीपर परमिन ब्लाक ने बचा ली, लेकिन रिबाउंड पर आकाशदीप ने गेंद को गोल के भीतर डाला, तो स्टेडियम तालियों की गड़गड़ाहट से गुंजायमान हो गया. पहला गोल गंवाने से स्तब्ध डच टीम ने दमदार जवाबी हमले बोले और 14वें मिनट में भारतीय गोलकीपर पीआर श्रीजेश ने शर्तिया गोल बचाया. पहले क्वार्टर के आखिरी चंद सेकंड तक भारतीय डिफेंस अभेद नजर आ रहा था, लेकिन नीदरलैंड ने आखिरी पल में बराबरी का गोल दाग दिया.

मरको प्रूजर ने सर्कल के भीतर गेंद पहुंचाई और थियरे ब्रिंकमैन की स्टिक से लगकर वह भारतीय गोल के भीतर चली गई, जिसे गोलकीपर श्रीजेश हैरान होकर देखते रहे. दूसरे क्वार्टर में भारतीय टीम कई बार गोल करने के करीब पहुंची, लेकिन फिनिशिंग तक नहीं ले जा सकी. भारत को बढ़त बनाने का सुनहरा मौका 24वें मिनट में मिला जब कप्तान मनप्रीत सिंह ने आकाशदीप को गेंद दी, जिसका दाहिने ओर से शॉट बार से टकरा गया और रिबाउंड पर नीलाकांता शर्मा का शॉट गोलकीपर ब्लाक ने बखूबी बचाया.

हाफटाइम तक स्कोर 1- 1 से बराबर था. दूसरे हाफ में भारतीयों ने कई मौके बनाए, लेकिन डच डिफेंस को भेद नहीं सके. उधर डच खिलाड़ियों को लगातार पेनल्टी कॉर्नर मिलते रहे. पूरे टूर्नामेंट में उसका पेनल्टी कॉर्नर खराब रहा और इस मैच में भी वह सिर्फ एक को भुना सके. तीसरा क्वार्टर गोलरहित रहने के बाद चौथे क्वार्टर में दूसरे ही मिनट में डच टीम ने लगभग गोल कर दिया, लेकिन भारत के रेफरल के बाद उसे अमान्य करार दिया गया. जवाबी हमले में आकाशदीप ने दाहिने फ्लैंक से गोल के ठीक सामने सिमरनजीत सिंह को गेंद दी जो उसे पकड़ नहीं सके.

इस बीच नीदरलैंड ने 50वें मिनट में एक के बाद एक पेनल्टी कॉर्नर बनाए और दूसरे पर गोल दागा. भारत ने 55वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर बनाया, तो दर्शकों में मानो जान फूंक गई, लेकिन हरमनप्रीत इसे गोल में नहीं बदल सके. आखिरी मिनटों में डच टीम ने रक्षात्मक हॉकी का प्रदर्शन करते हुए भारत की वापसी के सभी मंसूबों पर पानी फेर दिया.

Have something to say? Post your comment
More Sports News
बीसीसीआई सचिव जय शाह ने किया न्यू चंडीगढ़ में पीसीए के न्यू क्रिकेट स्टेडियम का दौरा
रबल टीएमटी हिमाचल फुटबॉल लीग, हिमाचल एफसी और टेक्ट्रो स्वाड्स में होगा फाइनल मुकाबला
हार्दिक पंड्या-केएल राहुल पर लगा बैन हटा 1956 के ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट रघबीर सिंह भोला नही रहे पंड्या-राहुल के 'भविष्य' पर फैसले में होगी देरी, जानिए क्या है वजह विराट कोहली का खास संयोग से बना 15 जनवरी से शतक कनेक्शन हार्दिक पंड्या- केएल राहुल की जगह विजय शंकर और शुभमन गिल को वनडे टीम में मौका महिलाओं पर अश्लील टिप्पणी में फंसे पंड्या ने BCCI से मांगी माफी ऑस्ट्रेलिया में कुलदीप ने 64 साल पुराने रिकॉर्ड की बराबरी की, वॉर्न ने दी शाबाशी IND vs AUS: ऋषभ पंत ने बताया- मैदान पर छींटाकशी से उनको क्या मिलता है