Saturday, December 04, 2021
Follow us on
 
BREAKING NEWS
निर्यातक के घर के सामने जमकर प्रदर्शन किया और हर रोज धरना देने का फैसला लिया। कहां की है घटना पढ़िए पूरी खबरअभय सिंह की जीत के बावजूद किसान की करारी हार-- ऐलनाबाद उपचुनाव परिणाम की समीक्षा --- पढ़िए पूरा विश्लेषणमल्टीस्पेशलिटी चेकअप कैंप में 270 लोगों की जांच, 20 आपरेशनविधानसभा अध्यक्ष ने किया अमरटेक्स, इंडस्ट्रियल एरिया फेस-1 में फैक्ट्रियों के मालिकों व श्रमिकों/कर्मचारियों के लिये मैगा कोविशिल्ड वैक्सीनेशन कैंप का उद्घाटन।पेड़-पौधे लगाकर हम धरती माता का श्रृंगार कर सकते हैं: श्रवण गर्गहरियाणा में येलो अलर्ट: 29 मई तक पड़ेगी तेज गर्मी, 30 और 31 मई को अंधड़ व बूंदाबांदी ।। जींद में कोरोना महामारी के बीच नगर के रेलवे रोड पर स्थित सब्जी मंडी में उमड़ रही लोगों की भीड़पंचकूला मौत का कुछ नही पता कब आ जाये ऐसा ही वाक्या देखने को मिला सेक्टर 20 पंचकूला में*
 
 
 
Haryana

सफीदों में डीएपी के बाद अब यूरिया खाद को लेकर मचा हाहाकार

November 24, 2021 06:39 PM

सफीदों, (सतीश मंगला): डीएपी खाद की किल्लत के उपरांत अब सफीदों क्षेत्र में यूरिया खाद के लिए हाहाकार मच गया है। किसान बुधवार सुबह ही पुरानी अनाज मंडी में आना शुरू हो गए थे लेकिन अव्यवस्था के चलते काफी किसानों को बिना खाद लिए ही देर सांय अपने घरों को लौटना पड़ा। खाद ना मिलने को लेकर किसानों में भारी रोष देखने को मिला। गौरतलब है कि बुधवार को यूरिया खाद की करीब 45000 कट्टों की एक बड़ी खेप रेल के माध्यम से सफीदों पहुंची। जैसे ही किसानों को खाद आने की खबर लगी सैंकड़ों की तादाद में किसान नगर की पुरानी अनाज मंडी में पहुंच गए। कुछ ही देर में खाद विक्रेता के बाहर खाद लेने वाले किसानों की भारी भीड़ जमा हो गई। किसान इतनी ज्यादा तादाद में पहुंच गए कि खाद वितरण के भारी अव्यवस्था फैल गई। खाद वितरक ने अपनी दुकान के मुख्य द्वार के अंदर का ताला जड़ दिया। किसानों की भारी भीड़ को देखते हुए मौके पर पुलिस बुलाई गई। खाद विक्रेता ने खाद वितरण के लिए कूपन पुलिस को सौंप दिए। पुलिस ने करीब 300 किसानों को कूपन बांट दिए। उसके उपरांत खाद का वितरण का कार्य किसी तरह से चालू तो हुआ लेकिन कुछ देर के बाद अंगूठा स्कैन करने वाली मशीन खराब हो गई। उसके बाद खाद्य वितरण का कार्य ठप्प हो गया। किसानों का कहना था कि एक किसान लोगों का पेट भरता है लेकिन आज हालात यह है कि उसे मात्र खाद लेने के लिए मुंह अंधेरे लाईनों में लगना पड़ रहा है। किसानों का कहना था कि खाद वितरण में भारी धांधली चली हुई है। खाद विक्रेता द्वारा अपने चहेते लोगों को पिछले दरवाजे से खाद दिया जा रहा है। किसानों का यह भी कहना था कि खाद विके्रता के द्वारा उन पर खाद के साथ-साथ कीटनाशक दवाइयां लेने के लिए दबाव बनाया जा रहा है। जो किसान कीटनाशक दवाइयां लेता है उसे तत्काल पिछले दरवाजे से खाद दे दिया जा रहा है और जो किसान दवाई लेने से मना करता है उसे खाद नहीं दी जा रही और उसे मशीन खराब होने का बहाना बनाकर टरकाया जा रहा है। ख्खाद विक्रेता के पास चार मशीने है लेकिन चालू सिर्फ एक मशीन को किया गया और कुछ देर बाद उसे भी खराब बता दिया गया। उनका कहना था कि कंपनी के द्वारा सफीदों में एक ही फर्म पर खाद भेजा गया है जबकि सफीदों में खाद के करीब 15 डीलर है। सरकार व प्रशासन को चाहिए कि वह सभी 15 स्थानों पर खाद का वितरण करवाएं ताकि किसानों को दिक्कतों का सामना ना करना पड़े। सफीदों में खाद वितरण में भारी धांधली चल रही है जिसकी जांच तत्काल आवश्यक है। वही खाद विक्रेता अक्षय जैन का कहना था कि उन्होंने सुबह ही पुलिस की मौजूदगी में करीब 300 किसानों को खाद के कूपन बटवां दिए गए थे। प्रत्येक कूपन पर 10 कट्टे खाद दिए जा रहे हैं। खाद्य वितरण के दौरान मशीन में कुछ खराबी आ गई जिसके लिए कंपनी के अधिकारियों को सूचित कर दिया गया है। किसी किसान को भी खाद के साथ कीटनाशनक लेने के लिए बाध्य नहीं किया गया है। उन्होंने बताया कि आज करीब 45000 कट्टे खाद आई है। जिसमें से असंध, मडलौड़ा व पिल्लूखेड़ा में भी खाद भेजा गया है। उनके पास सिर्फ 18000 कट्टे बचे हैं जिसे किसानों में वितरण किया जा रहा है।

Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
जन सरोकार दिवस’ रैली को ऐतिहासिक बनाने के लिए कार्यकर्ता दिन रात एक कर दे - अजय सिंह चौटाला
मोरनी में पर्यटन की अनेक संभावनाएं, बेहतरीन पर्यटन स्थल के रूप में किया जा रहा है विकसित-राज्यपाल
यदि नौकरी लगवाना है छोरा, तो देकर नोटों का बोरा, पर्चा छोड़ दो बिल्कुल कोरा - दीपेंद्र हुड्डा
इलैक्ट्रोल रोल आब्र्जरवर रेणु एस फुलिया ने फोटोयुक्ज मतदाता पहचान पत्र फार्मों का किया निरीक्षण
विवेकियों ने गांव-गांव में जाकर बांटे 100 कंबल छोटा व्यापारी बंद होता जा रहा है और बड़ा उद्योगपति अपना व्यापार बढ़ाता जा रहा है - राहुल गर्ग
सफीदों के खानसर चौंक पर निर्माणाधीन स्वागत द्वार गिरने का मामला
जागृति यात्रा' साइकिल रैली का भिवानी पहुँचने पर बैंड बाजे के साथ हुआ भव्य स्वागत।*
दुर्घटना से बचाव के लिए हैलमेट व कोरोना से बचाव के लिए मास्क जरूरी: एसएचओ
जसवंत बने बीजेपी ओबीसी मोर्चा के जिला मीडिया प्रभारी