Saturday, April 17, 2021
Follow us on
 
BREAKING NEWS
पंचकूला मौत का कुछ नही पता कब आ जाये ऐसा ही वाक्या देखने को मिला सेक्टर 20 पंचकूला में* गन प्वांइट पर फॉर्च्यूनर कार लूटने वालें आरोपियो को भेजा जेल क्राईंम ब्राचं पचंकूला ने भैसं चोर को लिया पुलिस रिमाण्ड पर संगरूर सांसद भगवंत मान ने किसान आंदोलन को लेकर पंजाब की कांग्रेस पार्टी और शिरोमणि अकाली दल नेताओं पर तीखी टिप्पणी कीकांग्रेस सदन में किसानों के मुद्दे पर सरकार के ख़िलाफ़ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी - भूपेंद्र सिंह हुड्डाजजपा ने पंचकूला नगर निगम मेयर व वार्ड मेंबर्स के चुनाव के लिए कमर कसी उपायुक्त जयबीर सिंह आर्य ने लघु सचिवालय परिसर, चिडिय़ाघर रोड़, बीपीएस रोड़ और हुडा पार्क के आसपास किया निरीक्षण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसानों को वो कानूनी अधिकार दे रहे हैं-- रत्नलाल कटारिया
 
 
 
Haryana

फ्लिपकार्ट जैसी ई-कॉमर्स कंपनियां आने से छोटे व्यापारियों का कारोबार खत्म होने के कगार पर पहुंच जाएगा: अभय चौटाला

April 08, 2021 05:26 PM
 
फ्लिपकार्ट जैसी ई-कॉमर्स कंपनियां आने से छोटे व्यापारियों का कारोबार खत्म होने के कगार पर पहुंच जाएगा: अभय चौटाला
 
चंडीगढ़, 8 अप्रैल:- पुनम कागरा--  इनेलो प्रधान महासचिव अभय चौटाला ने गुरुग्राम में प्रदेश सरकार द्वारा फ्लिपकार्ट कंपनी को अपने कारोबार के लिए 140 एकड़ भूमि देने बारे और एमेजॉन को उसी तर्ज पर गुरुग्राम में ही भूमि देने के प्रस्ताव की कड़ी निंदा की है। इनेलो शुरू से ही ई-कॉमर्स कंपनियों का विरोध करती रही है क्योंकि इससे छोटे व्यापारियों का कारोबार खत्म होने के कगार पर पहुंच जाएगा। एक तरफ जहां केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए तीनों कृषि काले कानूनों से देशभर का किसान प्रताडि़त है वहीं इन उक्त कंपनियों को जमीन दिए जाने पर व्यापारी वर्ग बर्बाद हो जाएगा। 
इनेलो नेता ने कहा कि गेहूं के सीजन में बारदाने की भारी किल्लत की वजह से सरकार द्वारा गेहूं की खरीद नहीं की जा रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की गठबंधन सरकार द्वारा जिला अधिकारियों के माध्यम से आढ़तियों को फरमान दिया गया है कि किसान अपनी फसलें अडानी के ढांड स्थित गोदामों में ले जाएं, वहां बारदाने की आवश्यकता ही नहीं है। अब जब अनाज मंडियों में आढ़ती पहले ही गेहूं खरीद के लिए उपलब्ध हैं तो प्रदेश के डिपो होल्डरों को सरकार द्वारा कच्चे आढ़तियों का लाइसेंस देकर प्राइवेट कंपनियों के लिए गेहूं खरीद को क्यों अधिकृत किया जा रहा है। गठबंधन सरकार के ऐसे निर्णय परोक्ष रूप से केवलमात्र बड़े औद्योगिक घरानों को लाभ पहुंचाना ही है।
उन्होंने कहा कि गठबंधन सरकार के ताजा निर्णय के अनुसार डीएपी पर 60 प्रतिशत और अन्य खादों जैसे एनपीके आदि पर 50-55 प्रतिशत तक वृद्धि की गई है। अब जब खरीफ की फसलों की एमएसपी पहले ही घोषित हो चुकी है उसके हिसाब से पिछले साल  की एमएसपी पर मात्र तीन प्रतिशत की ही वृद्धि की गई है जो कि किसानों के साथ भद्दा मजाक है। ऐसे में किसानों को बढ़ी हुई कीमतों पर खाद खरीदनी पड़ेगी जिससे फसल के लागत मूल्य में भारी वृद्धि होगी।
 
 

 

  •  

 

Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
प्रदेश में वीकेंड लॉकडाउन भी नहीं लगाया जाएगा। अनिल विज कोरोना महामारी से जंग हरियाणा सरकार ने नई गाइडलाइन की जारी रात 10 से सुबह 5 तक घरों से निकलने पर पाबंदी आज कितने लोगों ने लगवाई कोरोना वैक्सीन क्यों पहुंचे इतने लोग वैक्सीन के लिए पढ़िए पूरी खबर...
महाराजा अग्रसैन चौंक पर फिर से धरती धंसने का मामला पीडब्ल्यूडी महकमे ने चार तसले मसाला डालकर कर दी लीपापोती
एसडीएम ने किया हलके की मंडियों व खरीद केंद्रों का दौरा ट्रैक्टर-ट्राली और मोटरसाइकिल की टक्कर में महिला की मौत कोरोना बीमारी से इंकार नहीं किया जा सकता लेकिन बिमारी का बहाना बना कर किसान आंदोलन को खत्म करने की साजिश भाजपा सरकार रच रही है: अभय सिंह चौटाला*
पूर्व डिप्टी सीएम चन्द्रमोहन बिट्टू चावला के परिजनों को सांत्वना देने पहुंचे*
अपहरण की वारदात को अन्जाम देनें वाले ड्राईवर सहित पाँच आरोपियो को किया गिरफ्तार.
अवैध एम.टी.पी. किट के मामलें में आरोपी को भेजा जेल