Saturday, April 17, 2021
Follow us on
 
BREAKING NEWS
पंचकूला मौत का कुछ नही पता कब आ जाये ऐसा ही वाक्या देखने को मिला सेक्टर 20 पंचकूला में* गन प्वांइट पर फॉर्च्यूनर कार लूटने वालें आरोपियो को भेजा जेल क्राईंम ब्राचं पचंकूला ने भैसं चोर को लिया पुलिस रिमाण्ड पर संगरूर सांसद भगवंत मान ने किसान आंदोलन को लेकर पंजाब की कांग्रेस पार्टी और शिरोमणि अकाली दल नेताओं पर तीखी टिप्पणी कीकांग्रेस सदन में किसानों के मुद्दे पर सरकार के ख़िलाफ़ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी - भूपेंद्र सिंह हुड्डाजजपा ने पंचकूला नगर निगम मेयर व वार्ड मेंबर्स के चुनाव के लिए कमर कसी उपायुक्त जयबीर सिंह आर्य ने लघु सचिवालय परिसर, चिडिय़ाघर रोड़, बीपीएस रोड़ और हुडा पार्क के आसपास किया निरीक्षण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसानों को वो कानूनी अधिकार दे रहे हैं-- रत्नलाल कटारिया
 
 
 
National

*संघ की अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा* *इस बार 19 से 21 मार्च तक बेंगलुरु में*

March 02, 2021 05:56 PM
*संघ की अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा* 
 *इस बार 19 से 21 मार्च तक बेंगलुरु में* 
 
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा इस बार 19 से 21 मार्च तक बेंगलुरु में होने वाली है। वैसे तो संघ की यह बैठक हर साल मार्च में ही होती है लेकिन इस बार की होने वाली बैठक कुछ खास मानी जा रही है। यह बैठक खास इसलिए क्योंकि यह चुनावी बैठक है। वहीं,संघ की यह चुनावी बैठक पहली बार नागपुर से बाहर हो रही है।
 
चुनावी बैठक नागपुर से बाहर
संघ में हर तीसरा साल चुनावी साल होता है। इसमें सरकार्यवाह का चुनाव होता है। करीब एक दशक पहले तक हर साल संघ की इस सबसे बड़ी निर्णय लेने वाली संस्था अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा की बैठक नागपुर में ही होती थी लेकिन फिर तय किया गया कि हर तीसरी बैठक यानी चुनावी साल वाली बैठक नागपुर में होगी। बाकी दो साल यह बैठक देश के अलग-अलग हिस्सों में होगी। इस साल की बैठक चुनावी है और इसे नागपुर में होना था। संघ के एक पदाधिकारी ने बताया कि कोविड-19 की वजह से अलग-अलग राज्यों के अलग-अलग नियम हैं। महाराष्ट्र के कोरोना प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए इस बार यह बैठक नागपुर में नहीं कराने का फैसला किया गया है। वहां कोरोना केस भी तेजी से बढ़ रहे हैं, इसलिए यह चुनावी बैठक इस साल बेंगलुरु में हो रही है।
 
सरकार्यवाह का चुनाव
संघ के पदाधिकारी के मुताबिक, हर तीसरे साल संघ में जिला संघ चालक, प्रांत संघ चालक, विभाग संघ चालक समेत सरकार्यवाह का चुनाव होता है। संघ में सबसे बड़ा कार्यकारी पद सरकार्यवाह का ही है। एक दशक से ज्यादा वक्त से भैया जी जोशी सरकार्यवाह हैं। चर्चा है कि इस बार संघ को कोई नया सरकार्यवाह मिल सकता है। हालांकि, तीन साल पहले भी इसी तरह की चर्चा थी लेकिन तब भी भैयाजी जोशी ही चुने गए थे।
 
चुनाव अब तक हमेशा निर्विरोध
संघ के इतिहास में आज तक कभी वोटिंग की नौबत नहीं आई है। हर बार सरकार्यवाह का चुनाव निर्विरोध ही हुआ है। चुनाव की पूरी प्रक्रियाका पालन किया जाता है। चुनाव अधिकारी नए सरकार्यवाह के लिए नाम आमंत्रित करते हैं। नॉमिनेशन के साथ ही प्रस्तावक भी जरूरी हैं। हालांकि, कभी भी वोटिंग की नौबत नहीं आई। नए सरकार्यवाह का चुनाव होने के बाद वह अपनी नई टीम का ऐलान कर सकते हैं। इस बार प्रतिनिधि सभा में संख्या भी कम रखी गई है।
 
कई प्रस्ताव भी होंगे पास
बैठक में संघ के प्रतिनिधि पिछले एक साल की गतिविधियों का ब्योरा देंगे। शाखाएं कितनी बढ़ीं, इसका जिक्र होगा। कोविड के दौरान किस तरह काम हुआ इस पर भी बात होगी। संघ की प्रतिनिधि सभा में कई सामाजिक और राजनीतिक प्रस्ताव भी पास होते हैं। संघ के एक पदाधिकारी के मुताबिक, बैठक में आर्थिक प्रस्ताव भी आ सकता है। क्योंकि कोविड-19 के दौर में अर्थव्यवस्था पर मार पड़ी है।
उन्होंने कहा कि एक प्रस्ताव सामाजिक समरसता को लेकर भी आ सकता है। राम मंदिर का भी जिक्र होगा जिसमें राम मंदिर ट्रस्ट और भव्य मंदिर बनाने के लिए समाज के सहयोग और निधि समर्पण अभियान की बात होगी।
 
 

 

  •  

 


 

 

  • ,
  • or

 

Have something to say? Post your comment
 
More National News
राहुल गांधी का पीएम मोदी तंज- न टेस्ट, न वैक्सीन, न ऑक्सीजन, बस एक उत्सव का ढोंग कोरोना के कारण 15 मई तक देशभर में बंद किए गए सभी ऐतिहासिक स्थल* मेरा निवेदन है कि किसी अस्पताल को लेकर जिद्द मत करें --अरविंद केजरीवाल, आईएएस रानी नागर ने एक फिर यूपी पुलिस और सरकार से की शिकायत- देखिये क्या है पूरा मामला राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग (एनसीएससी) के ऑनलाइन शिकायत प्रबंधन पोर्टल का शुभारंभ किया। नमस्ते ,,,, माननीय मुख्यमंत्री एवं प्रधानमंत्री महोदय,,, दिल्ली में भी कोरोना का तांडव जारी ,पढ़िए क्यों हुआ ऐसा.. Corona का नया स्ट्रेन आंखें कर रहा खराब, सुनने की क्षमता पर भी डाल रहा असर *Breaking news* *दिल्ली में वीकेंड लॉकडाउन, CM केजरीवाल ने किया ऐलान ये फैसला आखिर क्यों लेना पड़ा पढ़िए पूरी खबर यूपी में पंचायत चुनाव स्थगित नहीं होंगे