Tuesday, March 09, 2021
Follow us on
 
BREAKING NEWS
गन प्वांइट पर फॉर्च्यूनर कार लूटने वालें आरोपियो को भेजा जेल क्राईंम ब्राचं पचंकूला ने भैसं चोर को लिया पुलिस रिमाण्ड पर संगरूर सांसद भगवंत मान ने किसान आंदोलन को लेकर पंजाब की कांग्रेस पार्टी और शिरोमणि अकाली दल नेताओं पर तीखी टिप्पणी कीकांग्रेस सदन में किसानों के मुद्दे पर सरकार के ख़िलाफ़ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी - भूपेंद्र सिंह हुड्डाजजपा ने पंचकूला नगर निगम मेयर व वार्ड मेंबर्स के चुनाव के लिए कमर कसी उपायुक्त जयबीर सिंह आर्य ने लघु सचिवालय परिसर, चिडिय़ाघर रोड़, बीपीएस रोड़ और हुडा पार्क के आसपास किया निरीक्षण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसानों को वो कानूनी अधिकार दे रहे हैं-- रत्नलाल कटारिया कोविड-19 टीकाकरण के लिए गठित जिला स्तरीय टास्क फोर्स कमेटी की पहली बैठक में हुई तैयारियों की समीक्षा
 
 
 
International

दलाई लामा को अरुणाचल में एंट्री देने से रिश्तों को गंभीर नुकसान होगा: चीन

February 22, 2017 01:28 PM

बीजिंग.चीन ने शुक्रवार को कहा कि अगर भारत तिब्बती धर्म गुरू दलाई लामा को अरुणाचल प्रदेश जाने की इजाजत देता है तो इससे दोनों देशों के रिश्तों को गंभीर नुकसान होगा। इससे बॉर्डर में जारी शांति को भी नुकसान हो सकता है। चीन की फॉरेन मिनिस्ट्री के स्पोक्सपर्सन ने कहा- चीन को जानकारी मिली है कि भारत ने दलाई लामा को अरुणाचल जाने की इजाजत दी है। हमारे लिए ये गंभीर चिंता की वजह है। और क्या कहा चीन ने...

- चीनी फॉरेन मिनिस्ट्री के स्पोक्सपर्सन गेंग शुआंग ने शुक्रवार को मीडिया से कहा- हम दलाई लामा को लेकर आ रही खबरों को लेकर काफी गंभीर हैं।
- बता दें कि चीन अरुणाचल प्रदेश को तिब्बत का हिस्सा बताता रहा है। दलाई लामा के यहां आने को चीन हमेशा से अपने इंटरनल मामलों में दखल के तौर पर देखता है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस साल किसी भी वक्त दलाई लामा अरुणाचल जा सकते हैं। भारत सरकार ने उन्हें इसकी इजाजत दे दी है। 
- शुआंग ने कहा- चीन दलाई लामा की इस विवादित इलाके में विजिट का विरोध करता है।
चीन का विरोध करते हैं दलाई लामा
- शुआंग ने कहा- दलाई चीन के खिलाफ आंदोलन को भड़काने की कोशिश करते रहे हैं। हमने अपनी फिक्र के बारे में प्रॉपर चैनल के जरिए भारत को बता दिया है।
- उन्होंने कहा- भारत दलाई लामा के मुद्दे की सीरियसनेस को बेहतर तरीके से समझता है। लेकिन अगर फिर भी वो तिब्बती धर्म गुरू को इस क्षेत्र में आने की परमिशन देता है तो इसके दोनों देशों के रिश्तों पर गंभीर नतीजे होंगे। इसके अलावा बॉर्डर पर शांति भी प्रभावित हो सकती है। 
- पिछले साल भारत में अमेरिकी एम्बेसेडर रिचर्ड वर्मा भी अरुणाचल गए थे और तब भी चीन ने इसका विरोध किया था। अरुणाचल के कुछ हिस्से पर चीन 1962 की जंग के बाद कब्जा कर लिया था। दोनों देशों के बीच 3,488 km लंबी बॉर्डर पर भी विवाद है। इसको सुलझाने के लिए कई दौर की बातचीत भी हो चुकी है।
भारत अगर तवांग पर दावा छोड़े तो विवाद हल हो जाएगा
- चीन के एक पूर्व डिप्लोमैट ने कहा है कि दोनों देशों की बीच बॉर्डर विवाद सुलझ सकता है अगर भारत तवांग रीजन पर अपना दावा छोड़ दे। 
- हालांकि, भारत ने चीन के इस ऑफर को पूरी तरह खारिज कर दिया है। भारत की तरफ से कहा गया कि ये होना नामुमकिन है।

Have something to say? Post your comment
More International News
किस्मत हो तो ऐसी* *👉जिस लॉटरी टिकट को लेने से कर रहा था इनकार, उसी से रातोंरात बन गया करोड़पति* WHO की चेतावनी, लॉकडाउन से ढील देने में जल्दबाजी से फिर बढ़ सकता है कोरोना संक्रमण
---मैटरहॉर्न पर्वत पर एक हजार मीटर का तिरंगा बनाकर स्विट्जरलैंड ने भारत की एकजुटता की यूं तारीफ
---डोनाल्ड ट्रंप की चीन को खुली चेतावनी, संक्रमण फैलाने के परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं
---करतारपुर साहिब में तेज हवाओं से गुरुद्वारे के गुंबद क्षतिग्रस्त, इमरान सरकार पर खड़े हुए सवाल
---COVID 19: धार्मिक नेता के जनाजे में शामिल हुए 50,000 लोग, तस्लीमा नसरीन ने कहा-सरकार बेवकूफ है
ट्रंप ने ट्वीट कर किया बड़ा ऐलान, बगदादी के बाद उसका उत्तराधिकारी भी ढेर
UAE ने अंतरिक्ष में अपना पहला एस्ट्रोनॉट भेजा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बोले- हमें प्रेरणा मिली
भूकंप से पाकिस्तान और PoK में भारी तबाही, 19 लोगों की मौत, 300 घायल
PAK को ट्रंप ने दिया झटका, इमरान के सामने कहा- भारत से रिश्ते अच्छे