Saturday, January 16, 2021
Follow us on
 
BREAKING NEWS
गन प्वांइट पर फॉर्च्यूनर कार लूटने वालें आरोपियो को भेजा जेल क्राईंम ब्राचं पचंकूला ने भैसं चोर को लिया पुलिस रिमाण्ड पर संगरूर सांसद भगवंत मान ने किसान आंदोलन को लेकर पंजाब की कांग्रेस पार्टी और शिरोमणि अकाली दल नेताओं पर तीखी टिप्पणी कीकांग्रेस सदन में किसानों के मुद्दे पर सरकार के ख़िलाफ़ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी - भूपेंद्र सिंह हुड्डाजजपा ने पंचकूला नगर निगम मेयर व वार्ड मेंबर्स के चुनाव के लिए कमर कसी उपायुक्त जयबीर सिंह आर्य ने लघु सचिवालय परिसर, चिडिय़ाघर रोड़, बीपीएस रोड़ और हुडा पार्क के आसपास किया निरीक्षण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसानों को वो कानूनी अधिकार दे रहे हैं-- रत्नलाल कटारिया कोविड-19 टीकाकरण के लिए गठित जिला स्तरीय टास्क फोर्स कमेटी की पहली बैठक में हुई तैयारियों की समीक्षा
 
 
 
Punjab

पंजाब के डीआइजी जेल लखविंदर सिंह जाखड़ ने अपने पद से इस्तीफा क्यों दिया ?

December 13, 2020 07:11 PM

चंडीगढ़-- अग्रजन पत्रिका ब्यूरो-- कृषि सुधार कानूनों के खिलाफ चल रहे किसानों के आंदोलन के समर्थन में पंजाब के डीआइजी जेल लखविंदर सिंह जाखड़ ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। बतादें लखविंदर सिंह जाखड़ भ्रष्टाचार के मामले में सस्पेंड रहे और अब वह बहाल हो चुके थे। उनके इस्तीफे की पुष्टि एडीजीपी जेल पीके सिन्हा ने की है। जाखड़ को 31 अगस्त 2022 को सेवानिवृत्त होना था। प्रिंसिपल सेक्रेटरी होम को भेजे गए इस्तीफे में जाखड़ ने लिखा है कि वह कृषि सुधार बिलों के विरोध में अपना इस्तीफा दे रहे है। वहीं, विभाग अब इस बात की पड़ताल करने में जुट गया है कि चूंकि उन पर भ्रष्टाचार मामले में जांच चल रही है, ऐसे में क्या वह प्री रिटायरमेंट ले सकते है या नहीं। वहीं, एडीजीपी जेल पीके सिन्हा ने जाखड़ द्वारा इस्तीफा देने की पुष्टि की है। आरोप है कि जब पंजाब में कोरोना पीक पर था तब जाखड़ ने सब जेल पट्टी के सुपरिंटेंडेंट से घूस ली थी। जिसके बाद विभाग ने इसकी जांच आइजी रूप कुमार से भी करवाई थी। जांच में भी इस बात की पुष्टि हुई। इस दौरान जाखड़ को 8 मई को सस्पेंड कर दिया गया था। डीआइजी जेल को 7 अक्टूबर को बगैर डिपार्टमेंट जांच की रिपोर्ट आए हुए बहाल कर दिया गया था।वहीं, जाखड़ के खिलाफ हाईकोर्ट में गलत तथ्यों वाला हलफिया बयान देने के मामले में भी एक विभागीय जांच चल रही है। विभाग के उच्चस्तरीय सूत्र बताते हैंं कि भ्रष्टाचार मामले में संलिप्त रहे लखविंदर सिंह जाखड़ के खिलाफ विभागीय कार्रवाई होनी तय थी। माना जा रहा है कि विभागीय कार्रवाई से पहले ही जाखड़ ने किसानों के हित में प्रि-रिटायरमेंट की अर्जी डाल दी है। सूत्रों के मुताबिक अगर किसी के ऊपर भ्रष्टाचार की जांच चल रही हो तो वह प्री रिटायरमेंट नहीं ले सकता है। हालांकि पीके सिन्हा का इस संबंध में कहना है, यह प्रशासनिक स्तर का फैसला है। इसमें यह देखा जाएगा कि रूल क्या कहते हैंं। चूंकि जाखड़ ने 12 दिसंबर को ही इस्तीफा दिया है। अतः अभी वह कुछ नहीं कर सकते है। वहीं, कुछ लोगों का यह भी कहना है कि वर्तमान हालात में जाखड़ खुद को किसानों के हित में शहीद करना चाहते हैंं, क्योंकि उनके खिलाफ भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप हैंं और आइजी की जांच में भी यह बाते सामने आई है। ऐसे में विभागीय कार्रवाई से बचने के लिए डीआइजी जेल ने इस्तीफा दिया है। जाखड़ के इस्तीफे पर सोमवार को पड़ताल होगी कि उनका इस्तीफा स्वीकार किया जा सकता है या नहीं। बता दें कि जाखड़ ने 1994 में बतौर डिप्टी सुपरिंटेंडेंट ज्वाइन किया था।

Have something to say? Post your comment
More Punjab News
कोविड-19 सरवाईवर्स, हॉस्पिटल स्टाफ ने जीरकपुर में मनाई लोहड़ी
होशियारपुर स्वास्थ्य अधिकारियों को सौंपा फस्र्ट रिस्पॉन्डर वाहन
कृषि कानूनों के खिलाफ जारी किसान आंदोलन के दौरान अपनी जान कुर्बान करने वाले 57 किसानों की याद में पंजाब कांग्रेस ने चंडीगढ़ में पैदल मार्च किया श्री गुरू तेग बहादुर जी का 400 साला प्रकाश पर्व ‘गुरू तेग बहादुर-हिंद की चादर’ के विषय पर मनाएगी पंजाब सरकार - चन्नी बलटाना में आयोजित हेल्थ कैम्प में 110 लोगों ने जांच करवाई नववर्ष की पूर्व संध्या पर होने वाले समारोहों को देखते हुए पंजाब सरकार के गृह विभाग ने कोविड के नियमों में थोड़ी ढ़ील दी सर्दियों में दिल का रखें ख्याल : डॉ भूटानी भाजपा पंजाब ने आड़े हाथों लेते हुए बिट्‌टू को सवालों में घेर लिया है और उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब में आने वाले स्थानीय निकाय व म्यूनिसिपल कमेटियों का चुनाव अपने चुनाव चिन्ह पर लड़ेगी आईटीबीपी वेट्रनस ने मोहिन्दर सिंह शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की