Tuesday, March 09, 2021
Follow us on
 
BREAKING NEWS
गन प्वांइट पर फॉर्च्यूनर कार लूटने वालें आरोपियो को भेजा जेल क्राईंम ब्राचं पचंकूला ने भैसं चोर को लिया पुलिस रिमाण्ड पर संगरूर सांसद भगवंत मान ने किसान आंदोलन को लेकर पंजाब की कांग्रेस पार्टी और शिरोमणि अकाली दल नेताओं पर तीखी टिप्पणी कीकांग्रेस सदन में किसानों के मुद्दे पर सरकार के ख़िलाफ़ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी - भूपेंद्र सिंह हुड्डाजजपा ने पंचकूला नगर निगम मेयर व वार्ड मेंबर्स के चुनाव के लिए कमर कसी उपायुक्त जयबीर सिंह आर्य ने लघु सचिवालय परिसर, चिडिय़ाघर रोड़, बीपीएस रोड़ और हुडा पार्क के आसपास किया निरीक्षण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसानों को वो कानूनी अधिकार दे रहे हैं-- रत्नलाल कटारिया कोविड-19 टीकाकरण के लिए गठित जिला स्तरीय टास्क फोर्स कमेटी की पहली बैठक में हुई तैयारियों की समीक्षा
 
 
 
Himachal

अस्पताल में स्टाफ की कमी बनी लोगों की परेशानियों का कारण

May 16, 2018 12:03 AM

शिमला , 15 मई ( इंद्रा गुप्ता ) : सलूणी के अंतर्गत आने वाली सुंडला पीएचसी में स्टाफ की कमी होने से लोगों भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सरकार ने कई जगहों पर पीएचसी  अस्पताल बना रखे हैं। परंतु इन पीएचसी और अस्पताल का फायदा लोगों को नहीं मिलता है। कई जगह स्टाफ की कमी तो कई जगह दवाइयों की कमियां अक्सर देखने को मिलती हैं। वहीं हाल है सुंडला की पीएचसी का जहां पर स्टाफ की कमी होने से दूर दराजों के लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। प्रशासन की नाकामी यहां साफ नजर आती हुई नजर आ रही है। केंद्र में BJP की सरकार और हिमाचल प्रदेश में भी बीजेपी की सरकार है उसके बावजूद भी अस्पतालों की हालत बहुत दयनीय है।

क्योंकि कहीं पर दवाइयां तो कहीं पर स्टाफ की कमी है। ग्रामीण लोगों के लिए तो सरकार का होना या न होना एक सामान है क्योंकि जब इलेक्शन होते हैं तो कई नेता लोग बड़े बड़े वादे करते हैं। परंतु जब यह विधायक या मंत्री बन जाते हैं तो उसके बाद लोगों के बारे में सोचना बिल्कुल ही बंद कर देते हैं। लोगों की प्रशासन से मांग है कि जल्द ही सुंडला पीएचसी में स्टाफ की कमी को किया पूरा किया जाये।

स्थानीय निवासी व मरीज़ और वहीं दूसर तरफ स्थानीय निवासियों व पीएचसी में आए मरीजों का कहना है कि यहां पीएचसी में एक ही डॉक्टर है और यहां पर प्रतिदिन 200 से  300 मरीज आते हैं। जिसके चलते एक ही डॉक्टरहोने की वजह से लोगों को बड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। क्योंकि एक डॉक्टर कितने लोगों को संभाल सकता है। यहां पीएचसी में मरीजों की लाइन लगी होती है और यहां पर उपस्थित डॉक्टर बहुत ही अच्छी तरह से मरीजों की देखरेख करते हैं।

हम लोग चाहते हैं कि इस पीएचसी में एक और डॉक्टर उपलब्ध करवाया जाए ताकि दूर दराज से आए लोगों को परेशानियों का सामना ना करना पड़े और सुंडला में सीएचसी  होना भी बहुत जरूरी है। ताकि यहां पर मरीजों के लिए बेड की सुविधा व और डॉक्टरों की नियुक्ति भी कराई जाये।

Have something to say? Post your comment
More Himachal News
हिमाचल प्रदेश के बद्दी शहर मैं रहने वाली मुस्कान जिंदल ने UPSC कि परिक्षा में 87वां रैंक प्राप्त किया। इस परीक्षा के बाद मुस्कान जिंदल के IAS बनने कि सारी बाधाऐ खत्म
हिमाचल पत्रकार कल्याण कोष होने के बावजूद हिमाचल के पत्रकारों को आर्थिक सहायता न मिलने पर जताया आश्चर्य
मीडिया के सामने विश्वसनीयता बड़ी चुनौती : पवन आश्री पहाड़ी राज्य हिमाचल प्रदेश व हरियाणा प्रदेश में तीन दिनों से हो रही तेज़ बारिश आफत बनकर बरस रही है पहाड़ी क्षेत्र हिमाचल में मॉनसून जोरों पर है और हर तरफ बारिश आफत बनकर बरस रही है। हिमाचल में कहर बनकर बरस रही बारिश, बाढ़ में तीन घर बहे, लैंड स्लाइड से शिमला-चंडीगढ़ हाईवे पर लगा 4 किमी लंबा जाम हिमाचल प्रदेश से मोरनी कचूआ खाद लेने आए युवक की चैंबर का फटा टूटने से मौत चैबर से खाद निकालते समय फटा टूटने से गिरा राहुल गतिशील समाज के लिए महिला सशक्तिकरण महत्वपूर्ण : मुख्यमंत्री हिमाचल के जंगलों में लगी आग को बुझाने में वायुसेना के हेलिकॉप्टरों का होगा इस्तेमाल हिमाचल के जंगलों में फैली आग, डिप्टी रेंजर समेत चार की मौत