Saturday, December 04, 2021
Follow us on
 
BREAKING NEWS
निर्यातक के घर के सामने जमकर प्रदर्शन किया और हर रोज धरना देने का फैसला लिया। कहां की है घटना पढ़िए पूरी खबरअभय सिंह की जीत के बावजूद किसान की करारी हार-- ऐलनाबाद उपचुनाव परिणाम की समीक्षा --- पढ़िए पूरा विश्लेषणमल्टीस्पेशलिटी चेकअप कैंप में 270 लोगों की जांच, 20 आपरेशनविधानसभा अध्यक्ष ने किया अमरटेक्स, इंडस्ट्रियल एरिया फेस-1 में फैक्ट्रियों के मालिकों व श्रमिकों/कर्मचारियों के लिये मैगा कोविशिल्ड वैक्सीनेशन कैंप का उद्घाटन।पेड़-पौधे लगाकर हम धरती माता का श्रृंगार कर सकते हैं: श्रवण गर्गहरियाणा में येलो अलर्ट: 29 मई तक पड़ेगी तेज गर्मी, 30 और 31 मई को अंधड़ व बूंदाबांदी ।। जींद में कोरोना महामारी के बीच नगर के रेलवे रोड पर स्थित सब्जी मंडी में उमड़ रही लोगों की भीड़पंचकूला मौत का कुछ नही पता कब आ जाये ऐसा ही वाक्या देखने को मिला सेक्टर 20 पंचकूला में*
 
 
 
Haryana

हरियाणा सरकार द्वारा धोखा?

November 24, 2021 06:37 PM

कैथल, 24 नवम्बर, कृष्ण गर्ग

प्रदेश सरकार के द्वारा आढ़तियों से किसानों को देरी का ब्याज देने के नाम पर वसूला गया ब्याज डेढ़ साल बाद भी न तो यह किसानों का दिया गया और न ही आढ़तियों को वापस किया गया। पाई अनाज मंडी के पूर्व प्रधान रणधीर सिंह फौजी, सत नारायण, राम कुमार ने बताया कि वर्ष 2020 में गेहूं के सीजन में जिन आढ़तियों ने किसान की बजाये अपने खाते में गेहूं की अदायगी भेजने के लिये सहमति पत्र नही भरे थे और ऐसे किसानों के गेहूं के पैसे आढ़तियों के खाते में आने के उपरांत किसानों की फसल की अदायगी आढ़तियों ने सरकारी पोर्टल के माध्यम से किसानों के खाते में की थी। आढ़तियों को सरकार के माध्यम यानि पोर्टल के द्वारा किसानों को करनी थी। उन्होंने अपने किसानों को उनकी गेहूं की फसल की अदायगी सीधे रूप से करी। सरकारी छुट्टियों के कारण आढ़तियों से यह अदायगी 72 घंटे में करने में देरी हो गई। जिस पर सरकार के द्वारा इस देरी का ब्याज आढ़तियों की आढ़त के भुगतान में से काट लिया था। पूरे प्रदेश में ब्याज की यह राशि कई सौ करोड़ों की बनती है। यह राशि सरकार के द्वारा अभी तक रोकी हुई है और इसका भुगतान न तो किसानों के खाते में किया गया और न ही आढ़तियों को वापस किया गया। सरकार के पास इस मोटी राशि को लगभग डेढ़ साल हो गये है। उन्होंने इस राशि को ब्याज सहित वापस करने की मांग की है। उधर इस बारे में जब किसान सुनील सिसमौर, बलराज कोटड़ा, रामफल पाई, वेदपाल पाई से जाना गया तो उन्होंने इंकार करते हुये बताया कि सरकार ने आढ़तियों से यह ब्याज गलत काटा है। आढ़तियों ने उनके द्वारा लिये गये कर्ज का ब्याज फसल लगाकर तत्काल कर दिया था। पोर्टल के द्वारा आढ़तियों ने मजबूरी वंश भुगतान किया था। उन्होंने कहा कि सरकार ने किसानों के नाम पर ब्याज तो काट लिया, परन्तु किसानों को नही दिया। इधर किसान यूनियन के राष्ट्रीय सलाहकार अजीत सिंह हाबड़ी ने कहा कि सरकार के द्वारा किसानों व आढ़तियों के साथ धोखा किया है। सरकार को काटे गये इस ब्याज का भुगतान ब्याज समेत जल्दी करना चाहिये। इस बारे में जब कैथल के डी एफ एस सी प्रमोद शर्मा से जानना चाहा तो उनसे सम्पर्क नही हो पाया।

 

Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
जन सरोकार दिवस’ रैली को ऐतिहासिक बनाने के लिए कार्यकर्ता दिन रात एक कर दे - अजय सिंह चौटाला
मोरनी में पर्यटन की अनेक संभावनाएं, बेहतरीन पर्यटन स्थल के रूप में किया जा रहा है विकसित-राज्यपाल
यदि नौकरी लगवाना है छोरा, तो देकर नोटों का बोरा, पर्चा छोड़ दो बिल्कुल कोरा - दीपेंद्र हुड्डा
इलैक्ट्रोल रोल आब्र्जरवर रेणु एस फुलिया ने फोटोयुक्ज मतदाता पहचान पत्र फार्मों का किया निरीक्षण
विवेकियों ने गांव-गांव में जाकर बांटे 100 कंबल छोटा व्यापारी बंद होता जा रहा है और बड़ा उद्योगपति अपना व्यापार बढ़ाता जा रहा है - राहुल गर्ग
सफीदों के खानसर चौंक पर निर्माणाधीन स्वागत द्वार गिरने का मामला
जागृति यात्रा' साइकिल रैली का भिवानी पहुँचने पर बैंड बाजे के साथ हुआ भव्य स्वागत।*
दुर्घटना से बचाव के लिए हैलमेट व कोरोना से बचाव के लिए मास्क जरूरी: एसएचओ
जसवंत बने बीजेपी ओबीसी मोर्चा के जिला मीडिया प्रभारी