Saturday, December 04, 2021
Follow us on
 
BREAKING NEWS
निर्यातक के घर के सामने जमकर प्रदर्शन किया और हर रोज धरना देने का फैसला लिया। कहां की है घटना पढ़िए पूरी खबरअभय सिंह की जीत के बावजूद किसान की करारी हार-- ऐलनाबाद उपचुनाव परिणाम की समीक्षा --- पढ़िए पूरा विश्लेषणमल्टीस्पेशलिटी चेकअप कैंप में 270 लोगों की जांच, 20 आपरेशनविधानसभा अध्यक्ष ने किया अमरटेक्स, इंडस्ट्रियल एरिया फेस-1 में फैक्ट्रियों के मालिकों व श्रमिकों/कर्मचारियों के लिये मैगा कोविशिल्ड वैक्सीनेशन कैंप का उद्घाटन।पेड़-पौधे लगाकर हम धरती माता का श्रृंगार कर सकते हैं: श्रवण गर्गहरियाणा में येलो अलर्ट: 29 मई तक पड़ेगी तेज गर्मी, 30 और 31 मई को अंधड़ व बूंदाबांदी ।। जींद में कोरोना महामारी के बीच नगर के रेलवे रोड पर स्थित सब्जी मंडी में उमड़ रही लोगों की भीड़पंचकूला मौत का कुछ नही पता कब आ जाये ऐसा ही वाक्या देखने को मिला सेक्टर 20 पंचकूला में*
 
 
 
National

लाल किले पर हुई घटना की स्वतंत्र एजेंसी करे जांच: रणधीर रेढू

February 21, 2021 06:45 PM

लाल किले पर हुई घटना की स्वतंत्र एजेंसी करे जांच: रणधीर रेढू
हरियाणा किसान यूनियन ने सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा
आंदोलन में शहीद हुए किसानों के परिजनों को मुआवजा दे सरकार
किसानों की कर्ज माफी के लिए चलाया जाएगा अभियान

चंडीगढ़।- अग्रजन पत्रिका ब्यूरो- हरियाणा किसान यूनियन ने कृषि कानूनों के मुद्दे पर केंद्र सरकार के विरूद्ध मोर्चा खोलते हुए कहा है कि 26 जनवरी को लाल किले पर हुई घटना की जहां स्वतंत्र एजेंसी के माध्यम से जांच होनी चाहिए वहीं इस मामले में गिरफ्तार किए गए किसानों को बिना किसी देरी के छोड़ना चाहिए। हरियाणा किसान यूनियन के प्रधान रणधीर सिंह रेढू, अर्थशास्त्री प्रो. रघबीर चंद गोयल तथा अध्यात्मविद्ध बलजीत सिंह ईगराह ने चंडीगढ़ में कहा कि प्रधानमंत्री ने आज तक कभी भी किसी अहिंसक प्रजातांत्रिक आंदोलन में हिस्सा नहीं लिया इसलिए वह किसानों के मन को नहीं समझ सके। उन्होंने कहा कि भाजपा नेताओं द्वारा शांतिपूवर्क आंदोलन कर रहे किसानों को देशद्रोही, खालिस्तानी कहना पूरी तरह से निंदनीय है।
कृषि कानूनों को वापस लिए जाने, गिरफ्तार किसानों को तुरंत रिहा किए जाने, किसान आंदोलन के दौरान अब तक शहीद हुए किसानों को मुआवजा दिए जाने की मांग करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार ने हरियाणा में कई दिनों तक इंटरनेट सेवाएं बाधित करके आमजन को नुकसान पहुंचाया है। भविष्य में सरकार अगर ऐसी कोई कार्रवाई करती है तो हरियाणा किसान यूनियन इसका कड़ा विरोध करेगी। रेढू ने कहा कि तीन महीने से आंदोलन कर रहे किसान मानसिक दबाव में हैं। जिस कारण वह आत्महत्या जैसे कदम उठा रहे हैं। रेढू ने कहा कि उनका संगठन धरना स्थलों पर जाकर कांउसलिंग का प्रबंध करेगा।
हरियाणा के कृषि मंत्री द्वारा किसानों के विरूद्ध दिए गए बयान को पूरी तरह से गैरजिम्मेवाराना करार देते हुए रेढू ने कहा कि कृषि मंत्री को बिना किसी देरी के मंत्री पद से हटाया जाए। उन्होंने कहा कि हरियाणा किसान यूनियन के कार्यकर्ता बहुत जल्द गांव-गांव जाकर न केवल किसानों को जागरूक करेंगे बल्कि किसानों की कर्ज माफी के लिए भी अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि हरियाणा किसान यूनियन द्वारा बहुत जल्द आईटी सैल का गठन करके किसानों को सोशल मीडिया के साथ जोड़कर न केवल महत्वपूर्ण जानकारियां दी जाएंगी बल्कि संगठन से जुडेÞ वकीलों द्वारा किसानों को मुफ्त परामर्श भी दिया जाएगा।

Have something to say? Post your comment
 
More National News
पीएम नरेंद्र मोदी और कैबिनेट कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर व राज्यमंत्री कैलाश चौधरी का धन्यवाद किया कटारिया ने
पंचकूला पुलिस नें बुर्जुग के साथ हुई मारपीट के मामला दर्ज कर आरोपी को किया काबू ।
बागवानी खेती से किसान होंगे अधिक समृद्व- जय प्रकाश दलाल कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री
आ गया सख्त फरमान, कोरोना वैक्सीन नहीं लगवाई तो वेतन भी नहीं*
ब्रेकिंग न्यूज़ सम्मानः हरियाणा पुलिस को एक बार फिर मिली राष्ट्रीय स्तर पर पहचान*
उड़ीसा के राज्यपाल महामहिम प्रो. गणेशीलाल ने सालासर मंदिर में की पूजा-अर्चना
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के कुशल नेतृत्व में देश विश्व गुरू बनने की ओर अग्रसर-गुप्ता*
चिंतनशाला:* अभी एक घटनाक्रम हुआ। फिल्म अभिनेता शाहरुख खान का बेटा आगे पढ़िए पूरी खबर ढाई घंटे चली राहुल-CM चन्नी की मीटिंग:बिना कुछ बोले रवाना हुए सूत्रों से मिली खबर कुछ तो हुआ है राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने यह क्या कह दिया विपक्षी पार्टियों की नींद उड़ी